निर्भया केस : सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की दोषी अक्षय की पुनर्विचार याचिका, फांसी की सजा बरकरार रखी

nirbhaya,nirbhaya case, nirbhaya gang rape

चैतन्य भारत न्यूज 

नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट के तीन सदस्यीय बेंच ने निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के दोषी अक्षय कुमार की पुनर्विचार याचिका सुनवाई के बाद खारिज कर दी। साथ ही उसकी फांसी की सजा को बरकरार रखा है।



करीब 30 मिनट की दलीलों में अक्षय के वकील एपी सिंह ने कहा कि, ‘पीड़ित ने आखिरी बयान में अक्षय या किसी दोषी का नाम नहीं लिया। पीड़ित की मौत ड्रग ओवरडोज से हुई थी। मीडिया और राजनीतिक दबाव में अक्षय को सजा सुनाई गई। वह निर्दोष और गरीब है। भारत अहिंसा का देश है और फांसी मानवाधिकार का उल्लंघन है।’

इस पर कोर्ट ने कहा कि, ‘आप ठोस व कानूनी तथ्य रखें, बताएं कि हमारे फैसले में क्या कमी थी और क्यों पुनर्विचार करना चाहिए। इस पर कोर्ट ने कहा कि आप ठोस व कानूनी तथ्य रखें, बताएं कि हमारे फैसले में क्या कमी थी और क्यों पुनर्विचार करना चाहिए।’ फैसला सुनाते हुए जस्टिस भानुमति ने कहा कि, ‘ट्रायल और जांच सही हुई है और उसमें कोई खामी नहीं है। मृत्यु दंड का सवाल है तो उसमें कोर्ट ने बचाव का पूरा मौका दिया है।’ जज ने कहा कि हमें याचिका में कोई ग्राउंड नहीं मिला है। इस तरह अक्षय की पुनर्विचार याचिका खारिज कर दी गई।

बता दें दोषी अक्षय की पुनर्विचार याचिका पर मंगलवार (17 दिसंबर) को सुनवाई होनी थी, लेकिन चीफ जस्टिस एसए बोबड़े ने खुद को बेंच से अलग कर लिया। इस वजह से सुनवाई को टालना पड़ा। गौरतलब है कि, निर्भया में तीन दोषियों की पुनर्विचार याचिकाएं पहले ही खारिज हो चुकी हैं।

ये भी पढ़े…

निर्भया केस : सुप्रीम कोर्ट में दोषी अक्षय की पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई पूरी, 

2008 जयपुर सीरियल बम ब्लास्ट में 4 आरोपी दोषी करार, 71 लोगों की गई थी जान

16 दिसंबर 2012: जब पार हुई थी इंसानियत की सारी हद, निर्भया की मां ने कहा- पहली बार घर में बेटी की लाश आई

Related posts