निर्भया कांड के दरिंदों को फांसी पर लटकाएगा मेरठ का पवन जल्लाद, योगी सरकार ने दी इजाजत

pawan jallad

चैतन्य भारत न्यूज

मेरठ. देश की बेटी निर्भया का सामूहिक दुष्कर्म और हत्या करने वाले दरिंदों को 22 जनवरी को सुबह 7 बजे फांसी पर लटकाया जाएगा। मंगलवार को कोर्ट का फैसला आने के बाद से ही पूरा देश खुश है। साथ ही वह इंसान भी बेहद खुश है जो निर्भया के दोषियों को फांसी देगा। हम बात कर रहे हैं पवन जल्लाद के बारे में जिन्हें दोषियों को फांसी पर लटकाने के लिए तिहाड़ जेल प्रशासन ने बुलाया है।


योगी सरकार ने दी इजाजत

सूत्रों के मुताबिक, तिहाड़ जेल प्रशासन ने उत्तरप्रदेश जेल राज्य मंत्री को एक पत्र लिखकर मेरठ जेल के जल्लाद पवन की सेवाएं लेने की अनुमति मांगी थी। जिसके बाद योगी सरकार ने इजाजत दे दी है। अब दोषियों को मेरठ का यह जल्लाद ही फांसी पर लटकाएगा।

जेल राज्य मंत्री ने क्या कहा

जेल राज्य मंत्री जय कुमार सिंह ने बताया कि, ‘निर्भया दुष्कर्म मामले के दोषियों को फांसी देने के लिए मेरठ के जल्लाद पवन कुमार की सेवाएं लेने के लिए तिहाड़ जेल प्रशासन द्वारा पत्र लिखा गया था। दोषियों की फांसी की सजा का दिन तय होने के बाद जल्लाद पवन को इस कार्य के लिए भेजने की मेरठ जेल प्रशासन को अनुमति दे दी गई है।’

दिल्ली जेल के महानिदेशक ने की पुष्टि

दिल्ली जेल के महानिदेशक संदीप गोयल ने भी इसकी पुष्टि की है। उन्होंने मंगलवार को मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि, ‘हम लोग जल्लाद को लेकर यूपी जेल प्रशासन के लगातार संपर्क में हैं। इस बारे में यूपी के जेल महानिदेशक आनंद कुमार से बात हुई। उन्होंने मेरठ में मौजूद जल्लाद तिहाड़ जेल भेजे जाने की सहमति दी है।’

पवन जल्लाद ने कही यह बात

वहीं जब इस बारे में पवन जल्लाद से बातचीत की गई तो उन्होंने कहा कि, ‘मैं तो बहुत पहले से कह रहा था कि निर्भया को हत्यारों को जल्दी फांसी लगाओ-चढ़ाओ, ताकि कोई और ऐसी हरकत करने की न सोच सके। अगर और पहले सरकार ने निर्भया के हत्यारों को लटका दिया होता तो हैदराबाद में महिला डॉक्टर क्रूर मौत के मुंह में असमय ही जाने से बच जाती।’

ये भी पढ़े…

पीढ़ियों से लोगों को फांसी दे रहा है यह जल्लाद परिवार, भगत सिंह-कसाब को भी फंदे पर लटका चुका है, अब निर्भया के दोषियों की बारी

फांसी का खौफ, निर्भया के दोषियों का वजन घटने लगा, अन्य कैदियों से बंद की बातचीत

निर्भया को मिला इंसाफ, 22 जनवरी को होगी चारों दोषियों को फांसी

Related posts