निर्भया केसः दोषियों को अलग-अलग फांसी देने वाली याचिका पर सुनवाई टली, SC ने चारों दोषियों को भेजा नोटिस

supreme court,mumbai,maharashtra supreme court

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के मामले में चारों दोषियों को अलग-अलग फांसी देने के दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती देने वाली केंद्र सरकार की याचिका पर शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई टल गई है। जानकारी के मुताबिक, अब इस मामले में अगली सुनवाई 11 फरवरी को दोपहर 2 बजे होगी।


सॉलिसिटर जनरल ने लगाईं जल्द सुनवाई की गुहार

केंद्र सरकार की ओर से पेश एडिशनल सॉलिसिटर जनरल केएम नटराज ने सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस एनवी रमन्ना की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय पीठ के सामने इस याचिका का उल्लेख करते हुए जल्द सुनवाई करने की गुहार लगाई है। नटराज ने कोर्ट में कहा कि, ‘चारों दोषियों की पुनर्विचार व सुधारात्मक याचिकाएं खारिज हो चुकी हैं और तीन की दया याचिकाएं भी खारिज हो चुकी हैं, लेकिन फिर भी इसके जेल अथॉरिटी चारों दोषियों की फांसी नहीं दे पा रही है।’

सुप्रीम कोर्ट ने दोषियों को जारी किया नोटिस

सुप्रीम कोर्ट ने चारों दोषी अक्षय, विनय, पवन और मुकेश को नोटिस जारी कर कहा है कि, ‘वे जल्द से जल्द अपने कानूनी विकल्प इस्तेमाल करें।’ बता दें बुधवार को दिल्ली हाई कोर्ट ने निर्भया के दोषियों को अलग-अलग फांसी देने वाली केंद्र सरकार की याचिका को ठुकरा दिया था। जिसके बाद सरकार ने हाईकोर्ट के इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। साथ ही दिल्ली हाई कोर्ट ने चारों दोषियों को निर्देश दिया था कि, ‘वे एक सप्ताह के भीतर अपने सभी कानूनी विकल्प का उपयोग कर लें। यदि सात दिन में वे अपने कानूनी विकल्प नहीं अपनाते हैं तो प्रशासन कानून के मुताबिक आगे की कार्रवाई करने को स्वतंत्र होगा।’

ये भी पढ़े…

निर्भया केस: HC ने खारिज की केंद्र सरकार की याचिका, कहा- दोषी 7 दिन में आजमा लें सभी कानूनी विकल्प

केंद्र सरकार की याचिका पर निर्भया के गुनहगारों का बयान- जल्दबाजी में न्याय करना मतलब न्याय को दफनाना

निर्भया केस: केंद्र सरकार ने HC से कहा- जिनके कानूनी विकल्प खत्म, उन्हें दी जाए फांसी

Related posts