आंदोलन के बीच बिहार के किसानों के लिए नीतीश सरकार का तोहफा, लिए गए ये बड़े फैसले

nitish kumar

चैतन्य भारत न्यूज
पटना. देशभर में चल रहे कृषि कानून के खिलाफ आंदोलन के बीच बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने किसानों के लिए कुछ महत्वपूर्ण घोषणा की है। नीतीश कुमार ने समीक्षा बैठक करते हुए किसानों से लिए जाने वाले धान की सीमा बढ़ाने की घोषणा की है। पहले राज्य में रैयत किसानों से जहां 200 क्विंटल तक धान लिया जा सकता था, अब इसे बढ़ाकर 250 क्विंटल कर दिया गया है, जबकि गैर रैयत किसानों से धान अधिप्राप्ति की सीमा 75 क्विंटल से बढ़ाकर 100 क्विंटल कर दी गई है।

सबसे खास बात यह है कि, इस घोषणा के बाद किसानों को बड़ी राहत मिल पाएगी। इसके अलावा धान की अधिप्राप्ति कराने वाले किसानों के खाते में निर्धारित समय सीमा के अंदर राशि अंतरित की जाएगी। नीतीश कुमार ने कहा कि, ‘जिन किसानों का कृषि विभाग में निबंधन है, उन्हें स्वतः निबंधित मानकर धान अधिप्राप्ति के लिए योग्य समझा जाए।

वहीं समीक्षा बैठक में सहकारिता विभाग के सचिव विनय कुमार ने प्रस्तुति देते हुए बताया कि साधारण धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य 1868 रुपए, जबकि ए-ग्रेड धान का समर्थन मूल्य 1888 रुपए प्रति क्विंटल रखा गया है। गौरतलब है कि, कृषि कानूनों के विरोध में देशभर के किसान इन दिनों आंदोलन पर हैं। केन्द्र सरकार के साथ बातचीत का दौर जारी है लेकिन अब तक कुछ ठोस नतीजा निकलकर सामने नहीं आया है।

ये भी पढ़े…

लगातार बढ़ता जा रहा है किसान आंदोलन, अवॉर्ड लौटाने राष्ट्रपति भवन जा रहे थे 30 खिलाड़ी, पुलिस ने रोका

किसानों के समर्थन में उतरीं प्रियंका चोपड़ा, कहा- वह अन्न के सिपाही हैं, उनके डर को दूर करने की जरूरत है

किसान आंदोलन : धरने पर बैठे एक किसान की मौत, परिजनों ने कहा- ठंड के कारण रुकी सांसे

Related posts