नीतीश कुमार ने 7वीं बार ली बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ, तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी बने उपमुख्यमंत्री

चैतन्य भारत न्यूज

जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने 7वीं बार सीएम पद की शपथ ली। राज्यपाल फागू चौहान ने शाम साढ़े चार बजे नितीश कुमार को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। शपथ ग्रहण समारोह में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा सहित कई दिग्गज नेता मौजूद रहे। बिहार विधानसभा चुनाव में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) ने 125 सीट हासिल की है।

 

नीतीश कुमार के अलावा भाजपा नेता तारकिशोर प्रसाद और भाजपा नेता रेणु देवी ने भी उप-मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। कांग्रेस, वाम दलों और आरजेडी ने शपथग्रहण समारोह का बहिष्कार किया। बता दें बिहार विधानसभा चुनाव में रोमांचक मुकाबले में राजद गठबंधन को 125 सीटें हासिल हुईं हैं। जबकि विपक्षी महागठबंधन को 110 सीटें मिली हैं। राजग में भाजपा को 74 सीटें, जेडीयू को 43, हम और वीआईपी को चार-चार सीटें मिली हैं। वर्ष 2015 के विधानसभा चुनावों में जेडीयू को 71 सीटें मिली थीं।

नालंदा से लड़ा पहला चुनाव

नीतीश कुमार ने साल 1977 में अपना पहला चुनाव लड़ा था। उन्होंने नालंदा के हरनौत से चुनाव लड़ा। यहां से नीतीश कुमार चार बार चुनाव लड़े। जिसमें उन्हें 1977 और 1980 में हार मिली, जबकि 1985 और 1995 के चुनाव में वह जीत गए थे। नीतीश कुमार ने साल 2004 में अपना आखिरी चुनाव लड़ा था, जिसमें उन्हें नालंदा से जीत हासिल हुई थी। उसके बाद से नीतीश कुमार ने कोई चुनाव नहीं लड़ा। नीतीश कुमार ने साल 1972 में बिहार इंजीनियरिंग कॉलेज से पढ़ाई की। उन्होंने कुछ समय तक बिहार स्टेट इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड में नौकरी भी की। लेकिन जयप्रकाश नारायण, राम मनोहर लोहिया जैसे नेताओं के संपर्क में आने के बाद नीतीश कुमार राजनीति के हो लिए।

16 साल से नहीं लड़ा चुनाव

नीतीश कुमार 6 बार बिहार के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। नालंदा से सांसद रहे नीतीश कुमार नवंबर 2005 में NDA के प्रदेश में सत्ता में आने पर मुख्यमंत्री बने थे। उन्होंने सांसद पद से इस्तीफा देकर बिहार विधान परिषद की सदस्यता ग्रहण की थी।

Related posts