भीषण चक्रवाती तूफान में बदला ‘निवार’, आज तमिलनाडु-पुडुचेरी तट से टकराएगा, 150 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती हैं हवाएं

cyclone,vayu,fainy

चैतन्य भारत न्यूज

बंगाल की खाड़ी में सक्रीय हुआ तूफान निवार तमिलनाडु के तट से आज टकराने वाला है। इसे लेकर सरकार और एनडीआरआफ की टीमें सतर्क हो गई हैं। तटीय इलाकों में बिना किसी कारण लोगों से घर से बाहर निकलने से मना किया गया है। तूफान धीरे-धीरे ताकतवर होता जा रहा है। चेन्नई में पिछले 24 घंटे से लगातार बारिश हो रही है। हालत ये है कि कई इलाकों में पानी भर गया है। मौसम विभाग (IMD) ने इसके खतरनाक साइक्लोन में तब्दील होने का अनुमान लगाया है।


चेन्नई के साइक्लोन वॉर्निंग सेंटर के मुताबिक, निवार साइक्लोन फिलहाल चेन्नई से 350 किमी दूर दक्षिण-पूर्व में है। यह उत्तर-पश्चिम दिशा की तरफ बढ़ रहा है। यह देर शाम या रात में कराईकल (आंध्र प्रदेश) और महाबलीपुरम (तमिलनाडु) को पार करेगा। यहां से गुजरते वक्त 145 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। तूफान से निपटने के लिए तमिलनाडु, पुडुचेरी और आंध्र प्रदेश में 1200 रेस्क्यू ट्रूपर्स तैनात किए गए हैं। ऐसे 800 ट्रूपर्स स्टैंडबाई रखे गए हैं। रेलवे ने 12 जोड़ी ट्रेनें रद्द कर दी हैं। कई ट्रेनों को तूफान प्रभावित स्टेशनों से पहले ही खत्म करने का फैसला लिया गया है।


मौसम विभाग ने कहा कि बुधवार को तूफान के प्रभाव से तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल के ज्यादातर हिस्सों में बारिश हो सकती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी और पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणसामी से बातचीत कर तूफान से पैदा हालात की जानकारी ली और केंद्र से हर संभव मदद का भरोसा दिया। वहीं, एनडीआरएफ प्रमुख एसएन प्रधान ने कहा कि चक्रवाती तूफान की स्थिति तेजी से बदल रही है और यह 140 से 150 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाले अत्यंत गंभीर चक्रवाती तूफान में बदल सकता है।

लोगों को जागरुक किया जा चुका है, पर्यटकों को सुरक्षित स्थानों पर लौट जाने के संदेश दिए जा चुके हैं। एनडीआरफ ने तीनों राज्यों में अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं। कोरोना के रूप में जमीन पर आफत पहले से ही थी, अब समुंदर और आसमान से आने वाली है।

Related posts