उत्तर प्रदेश में अब कोई भी टंकी पर चढ़कर नहीं मनवा पाएगा अपनी मांगे, सीढ़ियां हटाई जाएंगी

चैतन्य भारत न्यूज

लखनऊ. अपनी मांगें मनवाने के लिए पानी की ऊंची टंकी पर चढ़कर प्रशासन को परेशान करने वाले लोगों की अब खैर नहीं। वे अब ऐसा कर ही नहीं पाएंगे क्योंकि टंकी में ऊपर जाने वाली सीढ़ियों पर ताला लगाने या अनुपयोगी होने की स्थिति में उन्हें हटाने का निर्णय किया गया है।

कुछ दिन पहले प्रयागराज के कैंट के बेली गांव स्थित पानी की टंकी पर हरदोई के रहने वाले अधिवक्ता विजय प्रताप सिंह और उनके परिवार के लोगों ने प्रशासन को करीब 61 घंटे तक परेशान किया। बड़ी मुश्किल से वे नीचे उतरे। वे दबंगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे थे और नीचे कूदने की धमकी दे रहे थे। विजय प्रताप सिंह के साथ उनके भाई अजय प्रताप, बहन बबली, भानजी पूनम, बेटा विमल और गांव के ही परमेश्वर राशन-पानी, भोजन बनाने का सामान लेकर चढ़ गए थे। विजय प्रताप का आरोप था कि उनके भाई विवेक सिंह के अपहरण के मामले में पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है। आरोपित दबंग है और उसके प्रभाव में निष्पक्ष कार्रवाई नहीं हो पा रही है।

प्रशासन की नाक में दम कर देने वाली ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव आरके तिवारी ने सभी जिला कलेक्टरों को पत्र भेजा है। इसमें कहा गया है कि पानी टंकियों के ऊपर जाने वाली सीढ़ियों को बंद कर दिया जाए। जिन टंकियों का उपयोग नहीं हो रहा है। उनकी सीढ़ियों को तोड़ दिया जाए। यही नहीं उन्होंने यह काम पूरा कर रिपोर्ट भी मांगी है।

Related posts