एक लाख की आबादी पर शराब की सिर्फ चार दुकानें, इसलिए अब वाइन शॉप खोलेगी शिवराज सरकार

चैतन्य भारत न्यूज

मध्य प्रदेश के मुरैना में हुए जहरीली शराब कांड के बाद अब सरकार अब राज्य में शराब की दुकानों की संख्या बढ़ाने को लेकर विचार कर रही है। इसे लेकर सूबे के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आबकारी अधिकारियों के साथ एक भी बैठक की। इस बैठक में अधिकारियों ने शराब की दुकाने बढ़ाने का सुझाव दिया है।

एक लाख की आबादी पर केवल चार दुकानें

अधिकारियों ने यह तर्क दिया है कि, राजस्थान में एक लाख की आबादी पर 17, महाराष्ट्र में 21 और उत्तर प्रदेश में 12 दुकानें हैं, जबकि मध्यप्रदेश में यह संख्या सिर्फ चार है। इसलिए प्रदेश में शराब की दुकानें बढ़ानी चाहिए।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई मीटिंग

जहरीली शराब कांड के बाद मंगलवार को कलेक्टर-कमिश्नर और आईजी-एसपी के साथ मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये बैठक की थी। इस दौरान अफसरों ने ये तर्क दिया कि शराब की दुकानें बढ़ाने से प्रदेश में बिगड़ रही स्थिति को कुछ हद तक काबू में किया जा सकता है।

सख्त कार्रवाई के दिए आदेश

मुख्यमंत्री शिवराज ने यह साफ कहा कि, अवैध शराब की बिक्री और परिवहन से जुड़े लोगों पर सख्त कार्रवाई करें। अब यदि किसी भी जिले में जहरीली शराब कांड से किसी की मौत हुई तो इसकी जवाबदेही कमिश्नर, आईजी, कलेक्टर, एसपी के साथ आबकारी अधिकारी की भी होगी।

Related posts