कहीं मोटापे पर तो कहीं धूप पर या सिंगल होने पर, ये हैं दुनिया के कुछ अजीबोगरीब टैक्स

चैतन्य भारत न्यूज

हम सभी कई सारे टैक्स जमा करते हैं। चाहे वो हाउस टैक्स हो या फिर वॉटर टैक्स और या किसी भी तरह के टैक्स हो। लेकिन क्या आपने कभी धूप टैक्स, बैचलर टैक्स या मोटापे पर लगने वाले टैक्स के बारे में सुना है? नहीं न… लेकिन हम आपको आज कुछ ऐसे देश के बारे में बता रहे हैं जहां इस तरह के अजीबोगरीब टैक्स वसूले जाते हैं।



टैटू पर टैक्स

क्या आपने कभी टैटू पर टैक्स लगने के बारे में सुना है? नहीं ना लेकिन अमेरिका के ऑर्कन्स राज्य में शरीर पर टैटू बनवाने के लिए या फिर कोई तस्वीर गुदवाने पर 6 प्रतिशत टैक्स चुकाना होता है।

धूप पर टैक्स

साल 2016 से स्पेन के बैलरिक द्वीपसमूह में सन टैक्स यानी धूप पर टैक्स लगाया जा रहा है। दरअसल, हर साल वहां 1 करोड़ से ज्यादा पर्यटक आते हैं। ऐसे में स्थानीय संसाधनों पर दबाव पड़ता है। वहीं अमेरिका में साल 2010 से टैनिंग टैक्स लगाया जा रहा है। इसका मुख्य उद्देश्य स्किन कैंसर को रोकना है।

डिब्बाबंद खाने पर टैक्स

ओल्ड स्टफ मैगजीन के अनुसार, हंगरी में साल 2011 से उन सभी डिब्बाबंद खाने पर टैक्स वसूला जाता है, जिनमें अधिक मात्रा में चीनी और नमक है। इसे पब्लिक हेल्थ प्रॉक्ट टैक्स कहा जाता है।

मोटापे पर टैक्स

जापान में मेटाबो कानून के मुताबिक, हर साल 40 साल से लेकर 75 साल के लोगों को अपनी कमर नापना जरूरी है। यदि वहां पर पुरुषों की कमर की लंबाई 85 सेंटीमीटर से ज्यादा होती है और महिलाओं की 90 सेंटीमीटर से ज्यादा होती है तो उनपर टैक्स लगता है।

डायपर टैक्स

यूनाइटेड स्टेट के कनेटिकेट में अडल्ट डायपर को सेल्स टैक्स से छूट है। लेकिन यदि वहां आप अपने बच्चे के लिए डायपर खरीद रहे हैं तो इसके लिए आपको टैक्स चुकाना पड़ेगा।

टॉयलेट फ्लश टैक्स

दिनभर में आप टॉयलेट में कितना पानी खर्च कर देते होंगे, शायद आपको इसका अंदाजा नहीं होगा। इसी का पता लगाने के लिए मेरीलैंड सरकार ने टॉयलेट फ्लश का उपयोग करने पर हर महीने टैक्स लेना शुरू दिया। टैक्स से आए पैसों को ड्रेनेज के विकास के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

कद्दू पर टैक्स

भारत में भले ही कद्दू को पसंद नहीं किया जाता है और उसकी इज्जत नहीं होती है, लेकिन न्यू जर्सी में इसे खरीदने के लिए लोगों को टैक्स देना होता है।

बैचलर टैक्स

यूनाइटेड स्टेट के Missouri में 21 साल से लेकर 50 साल तक के व्यक्ति को सिंगल रहने पर 1 डॉलर टैक्स चुकाना होता है। इस टैक्स को पहली बार 1820 में लागू किया गया था। Missouri के अलावा जर्मनी, इटली और साउथ अफ्रीका समेत और भी कई देशों में बैचलर टैक्स वसूला जाता है।

 

Related posts