भुवनेश्वर में अनोखी मुहिम, आधा किलो प्लास्टिक के बदले मिलेगा भरपेट भोजन

bhubaneswar,odisha, meal for plastic

चैतन्य भारत न्यूज

भुवनेश्वर. भुवनेश्वर नगर निगम (बीएमसी) ने कुछ एनजीओ के साथ मिलकर एक अनोखी मुहिम शुरू की है। इस मुहीम का नाम ‘मील फॉर प्लास्टिक’ है। जानकारी के मुताबिक, यह योजना राज्य सरकार की आहार योजना के तहत शुरू की गई है। बीएमसी आयुक्त प्रेम चंद्र चौधरी का कहना है कि यह एक तरीके का प्लास्टिक जमा करने का अभियान है, जिसमें भोजन की सुरक्षा भी शामिल है।



उन्होंने बताया कि, ‘ऐसे कई लोग हैं जो प्लास्टिक जमा करते हैं। वहीं, कुछ लोग प्लास्टिक फेंक देते हैं जिससे समस्याएं खड़ी होती हैं। इसलिए हमने एक तीर से दो निशाने लगाने के बारे में सोचा। अब कोई भी शहर में 11 आहार केंद्र में किसी भी केंद्र पर जा सकता है और आधा किलो प्लास्टिक के बदले में उन्हें भोजन दिया जाएगा।’

बता दें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत में सिंगल यूज प्लास्टिक के इस्तेमाल को खत्म करने की पहल की है। एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा था कि, ऐसे कचरे के निवारण की भी शुरुआत हो जो जमीन पर, सड़क पर चलते-फिरते गाय-भैंस या अन्य जानवर खा जाते हैं।

गौरतलब है कि प्लास्टिक का इस्तेमाल खत्म करने के लिए ताइवान और वियतनाम में भी एक अनोखी पहल शुरू की गई। यहां सामान की पैकिंग के लिए केले के पत्तों का इस्तेमाल हो रहा है। छोटा सामान और सब्जियां अब पत्तों में ही दी जा रही हैं। इतना ही नहीं बल्कि, इको फ्रेंडली प्रोडक्ट पर डिस्काउंट, मक्के के पाउडर से बने बैग और रिसाइकिल स्टेशनरी चलन में आ गई है।

ये भी पढ़े…

कैंसर को बढ़ावा देते हैं नॉन स्टिक कुकवेयर और प्लास्टिक के बर्तन

पीएम मोदी ने की प्लास्टिक फ्री इंडिया की शुरुआत, सफाईकर्मियों के साथ जमीन पर बैठ छांटने लगे कूड़ा

ऑपरेशन कर गाय के पेट से निकाला 52 किलो प्लास्टिक का कचरा, खर्च हुए महज 140 रुपए

Related posts