इंदौर: नाक से सरका मास्क तो पुलिसवालों ने बेटे के सामने बेरहमी से की पिता की पिटाई, दो निलंबित

चैतन्य भारत न्यूज

इंदौर. सोशल मीडिया पर इन दिनों एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में दो पुलिसकर्मी एक व्यक्ति को मास्क ना लगाने पर बर्बरता से पीटते हुए नजर आ रहे हैं। यह मामला इंदौर शहर के परदेशीपुरा क्षेत्र से सामने आया है। यहां 35 वर्षीय व्यक्ति को दो पुलिस आरक्षक ने मंगलवार को सड़क पर गिराकर बुरी तरह पीटा। घटना का वीडियो वायरल होने पर दोनों पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है।

इस घटना के सामने आने के बाद खाकी वर्दी पर ऐसे दाग लगे हैं जो किसी भी तरह से नहीं मिट सकते। वायरल वीडियो में दिखाया गया है कि सिपाही महेश प्रजापति और गोपाल जाट ने मास्क न लगाने पर भरे चौराहा पर कृष्णा कुंजीर को जमकर पीटा। कृष्णा का बेटा और बहन-भाभी बिलखती रही और पुलिसवालों ने सड़क पर पटककर कृष्णा की गर्दन पर जूता रख दिया।

वीडियो वायरल होने पर पुलिस अधीक्षक आशुतोष बागरी ने दोनों सिपाहियों को निलंबित कर एसपी ऑफिस में अटैच कर दिया। कृष्णा के स्वजनों का आरोप है कि उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं है, जबकि पुलिस ने उसे स्मैक का आदी बताया है। हमेशा की तरह पुलिस अपने जवानों का पक्ष लेते दिखी। इस पूरे मामले पर जानकारी देते हुए इंदौर के पुलिस अधीक्षक आशुतोष बागरी ने कहा, ‘COVID के लगातार बढ़ते मामलों के मद्देनजर, हम लोगों से मास्क पहनने और अगर कोई शख्स पालन नहीं करता है तो मौके पर जुर्माना भी लगा रहे हैं। उसी दिशा में परदेशीपुरा पुलिस ‘रोको तोको’ कार्यक्रम के तहत अपना काम कर रही थी। तब उस दौरान उन्हें दिखा कि रिक्शा चालक ने मास्क नहीं पहना था। जब उससे पूछताछ की जाने लगी तो वह व्यक्ति अपराधिक दिमाग का पाया गया और उसका इतिहास जबरन वसूली और उसके द्वारा अन्यों पर चाकू भी चलाया गया है।’

आशुतोष बागरी ने आगे बताया कि, ‘इस घटना में हमने 2 पुलिसकर्मी को एसपी लाइन में अटैच किया है।’ उनका कहना है कि, ‘इसके पहले का वीडियो काट कर डाला गया है जो सही वीडियो है वो अभी आया नहीं है। पहले उसने हमारे पुलिसकर्मी की वर्दी पकड़ी थी इसके बाद हमारे जवानों ने उस को पकड़ा था।’

कृष्णकांत कुंजिर ने बताया कि, ‘मुझे मारा गया, मेरा मास्क नीचे था। पुलिस ने मेरी एक बात नहीं सुनी। मुझे चोट लगी है पर वो माने नहीं और मारना चालू कर दिया। मैंने बहुत कोशिश की पर वो मारते रहे। मुझे चोट भी लगी है।’ वहीं पीड़ित के बेटे यश कुंजिर ने बताया कि, ‘मेरे दादा जी जो हॉस्पिटल में भर्ती हैं। हम पापा के साथ उनका टिफिन लेकर जा रहे थे, तभी पुलिस ने मेरे पापा को बहुत मारा। मेरी एक बात नहीं सुनी। उनका सिर्फ मास्क नीचे था। मैंने उनको बचाने की कोशिश की तो मुझे भी धक्का दे दिया। उन्होंने मेरे पापा की गर्दन पकड़ रखी थी। मैंने देखा था कि उनका सिर्फ मास्क नीचे था। मेरे पापा सर, सर करते रहे पर पुलिस वाले मारते रहे।’

Related posts