बनिहाल में सीआरपीएफ के काफिले पर धमाका करने वाला आतंकी गिरफ्तार

owais hizbul mujahideen.owais hizbul mujahideen arrested

चैतन्य भारत न्यूज

श्रीनगर. जम्मू-श्रीनगर हाइवे पर शनिवार को जवाहर टनल के पास खड़ी एक सेंट्रो कार में धमाका हुआ था। अब इस धमाके का खुलासा हो गया है। बता दें पुलवामा की तरह ही बनिहाल में भी सीआरपीएफ के काफिले पर अटैक की साजिश रची गई थी हालांकि, आतंकी इस साजिश में नाकाम रहे। लेकिन इस बार साजिश को आतंकी संगठन जैश ने नहीं, बल्कि हिज्बुल मुजाहिद्दीन ने अंजाम दिया था। सूत्रों के मुताबिक, इस धमाके को अंजाम देने वाले आतंकी ओवैस अहमद मलिक को अब रामबाण से गिरफ्तार कर लिया गया है।

जम्मू कश्मीर में ईडी की बड़ी कार्रवाई: आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिद्दीन के आतंकियों की 13 संपत्तियां जब्त

बाल-बाल बचे सीआरपीएफ के जवान

गिरफ्तारी के बाद ओवैस अहमद मलिक को जम्मू ले जाया गया है। आपको बता दें जिस कार के जरिए ब्लास्ट किया गया था उसमे से दो सिलिंडर और कई आपत्तिजनक सामान बरामद हुए थे। जांच में यह भी सामने आया कि, कार पर जम्मू-कश्मीर की नंबर प्लेट लगी थी, लेकिन वह फर्जी थी। असल में वह कार हरियाणा की थी। ब्लास्ट इतना भयानक था कि कार के कई हिस्से उड़ गए थे। इससे सीआरपीएफ की बस को मामूली-सा नुकसान पहुंचा था। जानकारी के मुताबिक, हादसे के समय वहां पर सीआरपीएफ की 6-7 बस थी जिसमें करीब 40 जवान सवार थे। इस हादसे में सीआरपीएफ के सभी जवान बाल-बाल बच गए थे।

जम्मू कश्मीर : पुलवामा में सुरक्षाबलों ने 3 आतंकियों का किया एनकाउंटर

आतंकी ने लिखा था सुसाइड नोट

बता दें ओवैस अहमद मलिक ने एक सुसाइड नोट भी लिखा था जिसमें उसने खुद को हिज्बुल मुजाहिद्दीन का ओवैस अमन बताया है। साथ ही उसने इस हमले का जिम्मेदार भी खुद को बताया लेकिन अंतिम समय में आत्मघाती आतंकवादी ने अपना प्लान बदल दिया और विस्फोटकों से लदी कार को धमाके से पहले छोड़कर भाग गया था। जम्मू कश्मीर पुलिस के मुताबिक, ओवैस की पहचान मोहम्मद युसूफ मलिक के बेटे के तौर पर हुई है। वह बिजबेहड़ा के अरवानी का रहने वाला है जो कि सी श्रेणी का आतंकी है। वह 5 अप्रैल 2018 को हिज्बुल मुजाहिद्दीन में शामिल हुआ था।

जम्मू-कश्मीर : बनिहाल के पास कार ने सीआरपीएफ की बस को मारी टक्कर, हुआ ब्लास्ट

Related posts