खुशखबरी : ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की कोविड-19 वैक्सीन का दूसरा ट्रायल हुआ सफल

चैतन्य भारत न्यूज

ब्रिटेन. ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा विकसित कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर सामने आई है। यूनिवर्सिटी अब कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने में सफलता हासिल करने के करीब पहुंचती दिख रही है। ऑक्सफोर्ड द्वारा बनाई गई वैक्सीन ट्रायल में सुरक्षित और इम्यून सिस्टम को मजबूत करने में सफल साबित हुई है। इसके नतीजे बेहद उत्साहजनक रहे।

बीबीसी की एक खबर के अनुसार, ऑक्सफोर्ड द्वारा बनाई गई वैक्सीन बिल्कुल सुरक्षित है और इम्यून सिस्टम को प्रशिक्षित करती है। 1,077 लोगों पर किए गए ट्रायल से पता चला है कि इंजेक्शन से उन लोगों को एंटीबॉडी और श्वेत रक्त कोशिकाएं मिलीं जो कोरोना वायरस से लड़ सकती हैं। हालांकि अभी केवल दो चरण के परिणाम घोषित किए गए हैं। अभी तीसरे चरण के परीक्षण के परिणाम की घोषणा नहीं की गई है।माना जा रहा है कि जल्द ही इसकी घोषणा की जाएगी।

बता दें ब्रिटेन ने पहले ही वैक्सीन की 10 करोड़ डोज सुरक्षित कर ली हैं। भारत में भी इस वैक्सीन का उत्पादन हो रहा है। पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को ऑक्सफोर्ड वैक्सीन का उत्पादन करने का जिम्मा मिला है।

कैसे बनती है वैक्सीन?

इंसानी शरीर में खून में व्हाइट ब्लड सेल होते हैं जो उसके रोग प्रतिरोधक तंत्र का हिस्सा होते हैं। बिना शरीर को नुकसान पहुंचाए वैक्सीन के जरिए शरीर में बेहद कम मात्रा में वायरस या बैक्टीरिया डाल दिए जाते हैं। जब शरीर का प्रतिरक्षा तंत्र इस वायरस या बैक्टीरिया को पहचान लेता है तो शरीर इससे लड़ना सीख जाता है। इसके बाद अगर इंसान असल में उस वायरस या बैक्टीरिया का सामना करता है तो उसे जानकारी होती है कि वो संक्रमण से कैसे निपटे।

Related posts