INX मीडिया केस: पी. चिदंबरम को सशर्त मिली जमानत, 106 दिन बाद सलाखों से आएंगे बाहर

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. आईएनएक्स मीडिया केस में कांग्रेस नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट ने राहत दे दी है। चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट द्वारा सशर्त जमानत मिल गई है। चिदंबरम पर यह मामला प्रवर्तन निदेशालय (ED) से जुड़ा है, जिसमें उन्हें जमानत मिली है। इससे पहले चिदंबरम को सीबीआई से जुड़े केस में जमानत मिल चुकी है।


जेल में बंद चिदंबरम ने बयां किया दर्द- कुर्सी, तकिया छीन गया, जेल के खाने की आदत नहीं, घट गया 4 किलो वजन

दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले को दी थी चुनौती

बता दें चिदंबरम ने उनकी जमानत याचिका खारिज करने के दिल्ली हाईकोर्ट के 15 नवंबर के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। इस पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था और बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने 2 लाख के निजी मुचलके पर सशर्त जमानत दी है। जानकारी के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट ने पिछले गुरुवार को प्रवर्तन निदेशालय (ED) को निर्देश दिया कि आईएनएक्स मीडिया मनी लॉन्ड्रिंग मामले से संबंधित दस्तावेज सीलबंद लिफाफे में पेश किए जाएं।

इन शर्तों पर मिली जमानत

वैसे चिदंबरम के लिए यह बड़ी राहत है क्योंकि वह पिछले 106 दिनों से जांच एजेंसी या न्यायिक हिरासत में थे। सूत्रों के मुताबिक, कोर्ट ने चिदंबरम को जमानत देते हुए कहा है कि वो केस पर सार्वजनिक बयान या इंटरव्यू न दें। साथ ही वह बिना इजाजत के विदेश भी नहीं जा सकते हैं। कोर्ट ने चिदंबरम को यह भी हिदायत दी है कि वो केस से जुड़े किसी गवाह से संपर्क न करें।

INX मीडिया केस : इंद्राणी मुखर्जी का दावा : चिदंबरम और उनके बेटे को दी थी 35 करोड़ रुपए रिश्वत

ये हैं मामला 

चिदंबरम पर यह आरोप लगा है कि उन्होंने वित्त मंत्री के पद पर रहते हुए साल 2007 में रिश्वत लेकर आईएनएक्स मीडिया को 305 करोड़ रुपए लेने के लिए विदेशी निवेश प्रोत्साहन बोर्ड से मंजूरी दिलाई थी। चिदंबरम मामले की सरकारी गवाह इंद्राणी मुखर्जी है, जो फिलहाल अपनी बेटी शीना बोरा की हत्या के आरोप में मुंबई में जेल में है। इंद्राणी ने यह दावा किया था कि, उसने चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम को रिश्वत के तौर पर 50 लाख डॉलर (करीब 35.5 करोड़ रुपए) दिए थे। चिदंबरम के मामले में ईडी और सीबीआई जांच कर रही है। सीबीआई ने 21 अगस्त को चिदंबरम को उनके जोर बाग स्थित निवास से गिरफ्तार किया था।

ये भी पढ़े…

इंद्राणी और पीटर मुखर्जी का जेल में तलाक, शीना बोरा हत्या के मामले में काट रहे सजा

अपनी ही बेटी की हत्या की आरोपित हैं इंद्राणी मुखर्जी, इनके बयान से चिदंबरम फंसे मुश्किल में

जेल में बंद चिदंबरम ने हाउडी मोदी पर कहा- भारत में बेरोजगारी छोड़कर सब कुछ अच्छा है 

 

Related posts