INX मीडिया केस : पी चिदंबरम को मिली जमानत, लेकिन अब भी जेल में ही रहेंगे

p chidambaram

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. आईएनएक्स मीडिया मामले में जेल में बंद पूर्व गृह मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम को जमानत मिल गई है। जानकारी के मुताबिक, चिदंबरम को सीबीआई के केस में एक लाख रुपए के मुचलके पर सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिली है। चिदंबरम को अपना पासपोर्ट जमा करना होगा। हालांकि, जमानत के बाद भी चिदंबरम तिहाड़ जेल में रहेंगे, क्योंकि वह 24 अक्टूबर तक प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की कस्टडी में है।


जेल में बंद चिदंबरम ने बयां किया दर्द- कुर्सी, तकिया छीन गया, जेल के खाने की आदत नहीं, घट गया 4 किलो वजन

बता दें शुक्रवार को केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने कोर्ट में अपनी चार्जशीट दाखिल की थी। सीबीआई ने चार्जशीट में पूर्व गृह मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता चिदंबरम समेत 14 लोगों को आरोपित घोषित किया था। जानकारी के मुताबिक, सीबीआई की चार्जशीट में पी चिदंबरम, पीटर मुखर्जी, कार्ति चिदंबरम, भास्कर, सिंधुश्री खुल्लर, अनूप पुजारी, प्रबोध सक्सेना, आर प्रसाद, आईएनएक्स मीडिया, एएससीएल और शतरंज प्रबंधन का नाम है। इसके अलावा सीबीआई की चार्जशीट में वित्त मंत्रालय के चार पूर्व अफसरों का भी नाम है।

INX मीडिया केस : इंद्राणी मुखर्जी का दावा : चिदंबरम और उनके बेटे को दी थी 35 करोड़ रुपए रिश्वत

ये हैं मामला 

चिदंबरम पर यह आरोप लगा है कि उन्होंने वित्त मंत्री के पद पर रहते हुए साल 2007 में रिश्वत लेकर आईएनएक्स मीडिया को 305 करोड़ रुपए लेने के लिए विदेशी निवेश प्रोत्साहन बोर्ड से मंजूरी दिलाई थी। चिदंबरम मामले की सरकारी गवाह इंद्राणी मुखर्जी है, जो फिलहाल अपनी बेटी शीना बोरा की हत्या के आरोप में मुंबई में जेल में है। शनिवार को ही इंद्राणी ने यह दावा किया था कि, उसने चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम को रिश्वत के तौर पर 50 लाख डॉलर (करीब 35.5 करोड़ रुपए) दिए थे। चिदंबरम के मामले में ईडी और सीबीआई जांच कर रही है। सीबीआई ने 21 अगस्त को चिदंबरम को उनके जोर बाग स्थित निवास से गिरफ्तार किया था।

ये भी पढ़े…

इंद्राणी और पीटर मुखर्जी का जेल में तलाक, शीना बोरा हत्या के मामले में काट रहे सजा

अपनी ही बेटी की हत्या की आरोपित हैं इंद्राणी मुखर्जी, इनके बयान से चिदंबरम फंसे मुश्किल में

जेल में बंद चिदंबरम ने हाउडी मोदी पर कहा- भारत में बेरोजगारी छोड़कर सब कुछ अच्छा है

Related posts