जेल में बंद चिदंबरम ने बयां किया दर्द- कुर्सी, तकिया छीन गया, जेल के खाने की आदत नहीं, घट गया 4 किलो वजन

chidambaram

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. आईएनएक्स मीडिया मामले में जेल में बंद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्तमंत्री पी. चिदंबरम ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट के सामने अपनी तकलीफ को बयां किया है। बता दें कोर्ट ने चिदंबरम की न्यायिक हिरासत 17 अक्टूबर तक बढ़ा दी है। इसके बाद उन्होंने अपनी जमानत याचिका में सुप्रीम कोर्ट से कहा कि, ‘उन्हें जेल के अंदर मिलने वाले भोजन की आदत नहीं है, इसके चलते उनका स्वास्थ्य बिगड़ रहा है। जेल का खाना खाने से उनका चार किलो वजन भी कम हो गया है।’



तिहाड़ जेल में बंद चिदंबरम ने याचिका में यह मांग की है कि, ‘उन्हें रोजाना कम से कम एक बार घर का खाना मिलने की इजाजत दें।’ बता दें चिदंबरम ने यह याचिका स्पेशल जज अजय कुमार कुहर के समक्ष लगाई। इसके बाद जज ने तिहाड़ जेल के अधिकारियों को नोटिस जारी किया है। बता दें चिदंबरम ने हाईकोर्ट से उम्मीद खत्म होने के बाद जमानत के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है।

जमानत याचिका में यह भी लिखा है कि, ‘चिदंबरम पिछले 42 दिनों से जेल में हैं, जिसमें 15 दिनों की सीबीआई की अधिकतम कस्टडी रिमांड की अवधि शामिल है। उनका निरंतर हिरासत में रहना सजा का रूप है। इसके बाद उन्हें फिर से इस तरह जेल में रखना सही नहीं है और ना ही जांच के लिहाज से जरूरी है। उनकी हिरासत न तो ली जा सकती है और न ही जांच के उद्देश्य से आवश्यक है।’

चिदंबरम के वकील पहले ही कोर्ट को यह भी बता चुके हैं कि, ‘जेल में उनके पास बैठने के लिए कुर्सी तक नहीं है। साथ ही उनसे उनका तकिया भी ले लिया गया है। इसके चलते उनकी पीठ की समस्या बढ़ गई है।’ चिदंबरम ने कोर्ट को यह भी बताया कि, उनका इलाज चल रहा है और उन्हें हाइपरटेंशन ग्लाइसीमिया, कोरोनरी आर्टरी डिजीज जैसी कई बीमारियां घेर चुकी हैं।

गौरतलब है कि चिदंबरम को सीबीआई ने 21 अगस्त को उनके जोर बाग स्थित निवास से गिरफ्तार किया था। इससे पहले सोमवार को दिल्ली हाई कोर्ट ने चिदंबरम को यह कहकर जमानत देने से इनकार कर दिया कि, गवाहों को प्रभावित करने की आशंका को खारिज नहीं किया जा सकता। इसके बाद चिदंबरम ने गुरुवार को जमानत के लिए सुप्रीम कोर्ट का रूख किया।

ये भी पढ़े…

INX मीडिया केस में चिदंबरम को झटका, खारिज हुई जमानत याचिका

जेल में बंद चिदंबरम ने हाउडी मोदी पर कहा- भारत में बेरोजगारी छोड़कर सब कुछ अच्छा है

वायुसेना के पूर्व कर्मचारी ने की आत्महत्या, पी. चिदंबरम को ठहराया मौत का जिम्मेदार

चिदंबरम पर भ्रष्टाचार के 6 बड़े मामले लंबित, तीन मामले में पत्नी, बेटा और बहू भी आरोपित

Related posts