‘पाकिस्तान वाली गली’ के लोगों ने पीएम मोदी को लिखी चिट्ठी, कहा- प्लीज हमारी कॉलोनी का नाम बदल दीजिए

pakistan wali gali,greater noida,narendra modi

चैतन्य भारत न्यूज 

उत्तरप्रदेश में ग्रेटर नोएडा के एक कॉलोनी के निवासियों ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को एक चिट्ठी लिखकर अपनी कॉलोनी का नाम बदलने की गुहार लगाई है। दरअसल, ग्रेटर नोएडा में ‘पाकिस्तान वाली गली’ के नाम पर एक कॉलोनी है। इस कॉलोनी के लोगों का कहना है कि इस नाम की वजह से उन्हें सरकार की तरफ से मिलने वाली सुविधाओं से वंचित होना पड़ता है।

स्थानीय निवासियों ने बताया कि, बंटवारे के बाद पाकिस्तान से चार परिवार यहां आकर बस गए। इसके बाद इस जगह को ‘पाकिस्तान वाली गली’ के नाम से जाना जाने लगा। एक निवासी के मुताबिक, ‘हमारे पते को देखकर हमें रोजगार नहीं दिया जाता है। यहां तक कि जहां भी हम अपना पता देते हैं, वहां हमें मजाक का पात्र बनाया जाता है।’
लोगों ने कहा कि,’हम भारतीय हैं। बहुत पहले हमारे पूर्वजों में से सिर्फ 4 लोग ही पाकिस्तान से आकर यहां बसे थे। लेकिन फिर भी हमारे आधार कार्ड पर ‘पाकिस्तान वाली गली’ लिखा गया है। हम इस देश का हिस्सा हैं फिर क्यों हमें पाकिस्तान के नाम पर अलग किया जा रहा है।’
निवासियों का कहना है कि, ‘आधार कार्ड दिखाने के बाद हमें रोजगार नहीं मिलता, बच्चों की शिक्षा पर बहुत पैसे खर्च किए लेकिन फिर भी हमारे बच्चों को नौकरी नहीं मिलती। इसलिए हम बहुत परेशान हैं, यही वजह है कि हम पीएम मोदी और मुख्यमंत्री योगी से इस कॉलोनी का नाम बदलने और रोजगार की मांग कर रहे हैं। प्लीज हमारी कॉलोनी का नाम बदल दीजिए।’

एक और स्थानीय निवासी ने कहा कि, ‘लोग हमारे साथ बुरे तरीके से पेश आते हैं। मानों जैसे हम दूसरे देश के नागरिक हों। यह सिर्फ इसलिए होता है क्योंकि हमारी गली का नाम ‘पाकिस्तान वाली गली’ है। हमें भरोसा है कि पीएम मोदी हमारी आवाज सुनेंगे।’ बता दें कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार इससे पहले इलाहाबाद का नाम बदलकर ‘प्रयागराज’ और फैजाबाद का नाम बदलकर ‘अयोध्या’ कर चुकी है।

Related posts