अदनान सामी ने दी भारतीय वायुसेना को बधाई, पाकिस्तान ने किया ट्रोल

टीम चैतन्य भारत

मशहूर सिंगर अदनान सामी इन दिनों अपने एक ट्वीट के कारण पाकिस्तान में ट्रोल हो रहें हैं। दरअसल, 26 जनवरी को भारतीय वायु सेना द्वारा की गई एयर स्ट्राइक्स के बाद सभी लोगों ने सोशल मीडिया के जरिए सेना को सलाम किया था। इस दौरान भारतीय नागरिकता हासिल कर चुके अदनान सामी ने भी एयर स्ट्राइक्स को लेकर एक ट्वीट किया था जिसमें उन्होंने सेना की तारीफ की थी और उन्हें बधाई दी थी। सिंगर अदनान ने अपने ट्वीट में लिखा था कि, ‘द फोर्स इज विद यू नरेंद्र मोदी जी। भारतीय वायु सेना का सम्मान करता हूं। आतंकवाद पर रोक लगे।’ ऐसे में पाकिस्तानी लोगों को अदनान द्वारा किया गया ट्वीट पसंद नहीं आया और उन्हें ट्रोल करना शुरू कर दिया।

अदनान ने ट्रोलर्स को दिया करारा जवाब

कई सारे पाकिस्तानी लोगों द्वारा बुरी तरह ट्रोल किया था और उन्हें खरीखोटी सुनाई। लेकिन अदनान भी कहा चुप रहने वाले लोगों में से हैं, उन्होंने भी ट्रोल होने के बाद ट्रोलर्स को करारा जवाब दिया।हाल ही में सिंगर ने एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा कि, ‘प्यारे पाक ट्रोल्स, हकीकत की जांच करने का आपके अहम से कोई लेना-देना नहीं है। यहां सारी बात उन आतंकियों का सफाया करने की है जिनके बारे में आप दावा करते हैं कि वे तुम्हारे भी ‘दुश्मन’ हैं। सच न देखने की तुम्हारी सोच पर हंसी आती है। हां एक बात और, आपकी गालियां आपकी हकीकत को ही उजागर करती है।’

सिंगर ने कहा- मैं आतंकवाद का पुरजोर विरोध करता हूं। बता दें, अदनान को साल 2016 में भारत की नागरिकता मिली थी। अदनान ने इसके अलावा एक और पोस्ट किया था जिसके जरिए सिंगर ने उन लोगों को जवाब दिया जो उन्हें पाकिस्तान के खिलाफ समझ रहे थे। अदनान ने अपने इस पोस्ट में लिखा था –

‘मेरा ट्वीट आतंकवादियों के कैंप पर हमले को लेकर था ना कि पाकिस्तान के लोगों को लेकर। मैं मानता हूं कि आतंकवाद एक ग्लोबल समस्या है और मैं आतंकवाद का पुरजोर विरोध करता हूं। हालांकि मुझे अपने इस ट्वीट पर ट्रोल किया गया और इसकी प्रतिक्रिया स्वरुप मैंने उन लोगों को जवाब दिया जो मुझे ट्रोल कर रहे थे। इसका मतलब ये नहीं कि मैं सभी पाकिस्तानियों का विरोध कर रहा था।’

एकजुट होने की जरुरत है

अदनान ने पोस्ट में आगे ये भी लिखा था कि, ‘मैंने हमेशा से ही शांति, भाईचारे और मानवता की वकालत की है और मेरा दिल उन सभी लोगों के लिए पसीजता है जो आतंकी हमलों का शिकार हुए हैं  फिर वो चाहे पुलवामा में हो, उरी में हो, पेशावर में हो, मुंबई में हो, अफगानिस्तान में हो या पेरिस में हो। मैं उन सभी प्रयासों का समर्थन करता हूं जो आतंकवाद को जड़ से मिटाने की कोशिश कर रहे हैं। आपस में लड़ने के बजाए हमें इस समस्या के लिए एकजुट होने की जरुरत है।’

Related posts