महाराष्‍ट्र : 100 करोड़ की वसूली का आरोप लगने के बाद आखिरकार गृहमंत्री अनिल देशमुख ने दिया इस्‍तीफा

चैतन्य भारत न्यूज

मुंबई. वसूली के आरोपों में घिरे महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने आखिरकार इस्तीफा दे दिया है। बता दें पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने सौ करोड़ वसूली का आरोप लगाया था। जानकारी के मुताबिक, देशमुख ने अपना इस्तीफा मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को भेज दिया है। देशमुख उद्धव से मिलने उनके घर भी पहुंचे हैं। गृहमंत्री के इस्तीफे के बीच राकांपा चीफ शरद पवार और उप मुख्यमंत्री अजित पवार के बीच मुलाकात हुई है।

बता दें परमबीर सिंह ने गृहमंत्री देशमुख के खिलाफ हाईकोर्ट में सौ करोड़ रुपए वसूली की याचिका लगाई थी। इस याचिका पर तीन घंटे पहले ही बॉम्बे हाईकोर्ट ने CBI को अनिल देशमुख के खिलाफ लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों की 15 दिनों के भीतर प्रारंभिक जांच शुरू करने के लिए कहा है। कोर्ट ने कहा कि, आरोप छोटे नहीं हैं और राज्य के गृह मंत्री पर हैं, इसलिए पुलिस इसकी निष्पक्ष जांच नहीं कर सकती। कोर्ट ने यह आदेश डॉ। जयश्री लक्ष्मणराव पाटिल की जनहित याचिका पर दिए। परमबीर का कहना है कि गृह मंत्री अनिल देशमुख ने निलंबित API सचिव वझे को 100 करोड़ रुपए वसूली का टारगेट दिया था।

बता दें कि मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने जिस तरह से मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर गृहमंत्री अनिल देशमुख पर गंभीर आरोप लगाए हैं, उसके बाद से महाराष्ट्र की सियासत में भूचाल आ गया है। परमबीर सिंह ने उद्धव ठाकरे को लिखे पत्र में कहा है कि, गृह मंत्री देशमुख ने हर महीने 100 करोड़ रुपए की डिमांड रखी थी। हालांकि परमबीर सिंह के आरोपों को अन‍िल देशमुख ने खारिज कर दिया था और अब राज्य के मुख्यमंत्री से सभी आरोपों की जांच करने को कहा था। उन्होंने कहा कि जब आरोपों की जांच होगी तो दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा।

Related posts