कृषि से संबंधित दो बिल राज्यसभा से पास, विपक्ष ने किया हंगामा, सभापति के सामने लगा माइक तोड़ा

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. विपक्ष के हंगामे के बीच आज कृषि से संबंधित दो बिल राज्यसभा से पास हो गए हैं। जानकारी के मुताबिक, कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सरलीकरण) विधेयक, 2020 और कृषक (सशक्तिकरण और संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा पर करार विधेयक, 2020 ध्वनि मत से पारित हुए हैं। राज्यसभा में बिल पास होने के बाद विपक्ष ने खूब हंगामा किया। कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के सांसदों ने जमकर नारेबाजी की। टीएमसी के सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने तो बुक को फाड़ दिया और माइक भी तोड़ दिया।

हंगामे के दौरान 12 सांसद सदन में ही धरने पर बैठ गए। सदन में खत्म होने के बाद भी कुछ सांसद राज्यसभा में धरने पर बैठे थे। हालांकि बाद में राज्यसभा सांसदों ने सदन के अंदर से धरना खत्म किया और संसद परिसर में गांधी जी की प्रतिमा के पास धरना देने लगे। विपक्षी पार्टियों के नेता गांधी जी की प्रतिमा पर धरने पर बैठे जिसमें कांग्रेस आम आदमी पार्टी, कांग्रेस सहित कई पार्टी के नेता मौजूद थे। कुछ देर बाद सांसदों का यह धरना खत्म हो गया।


कृषि से संबंधित दो बिल पास होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र माफी ने ट्वीट किया जिसमें लिखा कि- ‘भारत के कृषि इतिहास में आज एक बड़ा दिन है। संसद में अहम विधेयकों के पारित होने पर मैं अपने परिश्रमी अन्नदाताओं को बधाई देता हूं। यह न केवल कृषि क्षेत्र में आमूलचूल परिवर्तन लाएगा, बल्कि इससे करोड़ों किसान सशक्त होंगे।’

किसानों के प्रदर्शन को रोकने दिल्ली सीमा पर पुलिस अलर्ट जारी किया गया है और बड़ी संख्या में जवान तैनात किए गए हैं। दिल्ली पुलिस ने रविवार को कहा कि, उसने पड़ोसी राज्यों में किसानों के प्रदर्शन के मद्देनजर एहतियाती तौर पर सीमावर्ती इलाकों में पुलिकर्मी तैनात किए हैं। वहीं दिल्ली में कांग्रेस दफ्तर के बाहर पांच राज्यों के सैकड़ों किसान और अखिल भारतीय किसान कांग्रेस के सदस्य प्रदर्शन कर रहे हैं।

Related posts