आज है मोक्ष प्रदान करने वाली पौष पूर्णिमा, जानिए इसका महत्व और पूजन-विधि

paush purnima 2020,paush purnima,

चैतन्य भारत न्यूज

हिंदू धर्म में पूर्णिमा का बड़ा महत्व है। पूर्णिमा की तिथि चंद्रमा को प्रिय होती है और इस दिन चंद्रमा अपने पूर्ण आकार में होता है। वहीं पौष पूर्णिमा के दिन दान, स्नान और सूर्य देव को अर्घ्य देने का विशेष महत्व है। इस बार पौष पूर्णिमा 10 जनवरी को है। आइए जानते हैं पौष पूर्णिमा का महत्व और पूजा-विधि।



paush purnima 2020,paush purnima,

पौष पूर्णिमा का महत्व

हिंदू धर्म से जुड़ी मान्यता के अनुसार पौष सूर्य देव का माह कहलाता है। कहा जाता है कि इस मास में सूर्य देव की आराधना से मनुष्य को मोक्ष की प्राप्ति होती है। इसलिए पौष पूर्णिमा के दिन पवित्र नदियों में स्नान और सूर्य देव को अर्घ्य देने की परंपरा है। स्नान के बाद इस दिन दान करने की भी परंपरा है। इस दिन सूर्य और चंद्रमा दोनों के पूजन से मनोकामनाएं पूर्ण होती है और जीवन में आने वाली बाधाएं दूर होती हैं।

paush purnima 2020,paush purnima,

पौष पूर्णिमा पूजन-विधि

  • पौष पूर्णिमा पर सूर्योदय से पहले उठ जाना चाहिए।
  • संभव हो तो इस दिन तीर्थ या पवित्र नदियों में स्नान करें।
  • स्नान के पश्चात सूर्य मंत्र का उच्चारण करते हुए सूर्य देव को अर्घ्य देना चाहिए।
  • इसके बाद किसी जरुरतमंद व्यक्ति या ब्राह्मण को भोजन कराकर दान-दक्षिणा दें।
  • दान में तिल, गुड़, कंबल और ऊनी वस्त्र विशेष रूप से दें।

ये भी पढ़े…

2020 में आने वाले हैं ये प्रमुख तीज त्योहार, यहां देखें पूरे साल की लिस्ट

पूर्णिमा पर बन रहा है ये शुभ संयोग, जानिए इस दिन क्यों की जाती है तुलसी पूजा और गंगा स्नान

10 जनवरी को है साल का पहला चंद्रग्रहण, भारत समेत इन जगहों पर दिखाई देगा नजारा

Related posts