यस बैंक के संकट का असर PhonePe पर, Paytm ने मजाक उड़ाते हुए की मदद की पेशकश, मिला करारा जवाब

phone pay paytm

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. भारतीय रिजर्व बैंक ने वित्तीय संकट से जूझ रहे निजी क्षेत्र के यस बैंक की कई सेवाओं पर 5 मार्च से रोक लगा दी है। इससे सबसे बड़ा झटका डिजिटल पेमेंट वॉलेट PhonePe को लगा। शुक्रवार को फोनपे की सेवाएं दिनभर बंद रही। ऐसे में यूजर्स को कई परेशानियों का सामना करना पड़ा। फोनपे की सेवाएं बंद होने के बाद पेटीएम ने ट्वीट कर उसका मजाक उड़ाया। लेकिन फोनपे ने भी पेटीएम को करारा जवाब दे दिया।


पेटीएम का ऑफर

पेटीएम ने ट्वीट में लिखा था कि, ‘डियर PhonePe, हम आपको पेटीएम बैंक के UPI प्लेटफॉर्म पर आमंत्रित करते हैं। इसमें अपार संभावनाएं हैं और आपके बिजनेस को कई गुना आगे बढ़ाया जा सकता है। आइए मिलकर तेजी से काम करते हैं।’

फोनपे का जवाब

पेटीएम द्वारा ट्वीट करने के करीब 40 मिनट बाद ही फोनपे ने इसका जवाब दिया और ट्विटर पर लिखा कि, ‘आपको यह विचार करने के लिए आमंत्रित करते हैं कि यदि आपका UPI प्लेटफॉर्म इतना आसान होता, तो हम खुद ही आपको इस ऑफर के लिए आमंत्रित करते। अगर हमें लंबे वक्त के साझेदारों का साथ उनके बुरे वक्त में छोड़ना पड़े तो तेजी से वापसी करने का कोई मतलब नहीं है। हमारा फॉर्म तो अस्थायी है, लेकिन हमारी क्लास स्थायी है।’

इसलिए फोनपे की सेवाएं हुईं बाधित 

बता दें फोनपे बैंकिंग सेवाओं के लिए यस बैंक का ही इस्तेमाल करता था। ऐसे में यस बैंक पर लगी बंदिशों के कारण फोनपे के ग्राहक सेवाओं का इस्तेमाल नहीं कर सके। पहले तो फोनपे की सेवाएं बाधित होने पर कंपनी की ओर से ट्वीट कर बताया गया था कि ‘अनशेड्यूल्ड मैन्टेनेंस एक्टिविटी’ के कारण ऐसा हुआ है। लेकिन बाद में फोनपे के सीईओ ने ट्वीट कर कहा कि, यस बैंक के कारण फोनपे एप में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि, शुक्रवार रात को फोनपे द्वारा कहा गया था कि, सभी ग्राहक फोनपे के सभी फीचर्स का प्रयोग अब आसानी से कर सकते हैं।

क्या है मामला

दरअसल यस बैंक की लगातार बिगड़ती हालत को देखते हुए आरबीआई ने 30 दिन के लिए बैंक के कामकाज पर अस्थायी रूप से रोक लगा दी। साथ ही आरबीआई ने पैसा निकालने की ऊपरी सीमा भी निर्धारित कर दी जिसके तहत अब यस बैंक के खाताधारक एक महीने में सिर्फ 50 हजार रुपए ही निकाल सकेंगे। ऐसे में ग्राहकों की परेशानी बढ़ गई और उन्हें अपने पैसे डूबने की चिंता सताने लगी। लेकिन वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने परेशान ग्राहकों के पैसे न डूबने को लेकर भरोसा दिया है।

ये भी पढ़े…

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने Yes Bank के ग्राहकों को दिलाया भरोसा, कहा- नहीं डूबेगा आपका पैसा

मोदी सरकार ने इन 10 सरकारी बैंकों के विलय को दी मंजूरी, जानें ग्राहकों पर क्या होगा असर

मोदी सरकार ने इन 10 सरकारी बैंकों के विलय को दी मंजूरी, जानें ग्राहकों पर क्या होगा असर

मार्च में 13 दिन बंद रहेंगे बैंक, जल्द निपटा लीजिए अपने जरुरी काम

इन 4 एप्स को डाउनलोड करने से बचें, वरना खाली हो सकता है आपका बैंक खाता

Related posts