सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जस्टिस पिनाकी चंद्र घोष ने ली भारत के पहले लोकपाल पद की शपथ

चैतन्य भारत न्यूज।

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जस्टिस पिनाकी चंद्र घोष ने भारत के पहले लोकपाल के तौर पर शपथ ली। जस्टिस घोष को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। बता दें लोकपाल भ्रष्टाचार के खिलाफ काम करने वाली संस्था है।

पीएम नरेंद्र मोदी भी रहे मौजूद

समारोह के दौरान उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई भी मौजूद थे।

जस्टिस घोष के बारे में

जस्टिस घोष इससे पहले आंध्रप्रदेश हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस और सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस रह चुके हैं। जस्टिस घोष वर्तमान में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के सदस्य भी हैं और मानवाधिकार कानूनों के जानकार के तौर पर उन्हें माना जाता है।

लोकपाल में अन्य सदस्य

जस्टिस घोष के अलावा लोकपाल में सदस्यों के तौर पर जस्टिस दिलीप बी. भोंसले, जस्टिस प्रदीप कुमार मोहंती, जस्टिस अभिलाषा कुमारी, जस्टिस अजय कुमार त्रिपाठी होंगे। न्यायिक सदस्यों के साथ ही कमेटी में 4 अन्य सदस्यों के तौर पर दिनेश कुमार जैन, अर्चना रामसुंदरम, महेंद्र सिंह और डॉक्टर इंद्रजीत प्रसाद गौतम भी शामिल किए गए हैं।

Related posts