आज से शुरू हुए श्राद्ध, इन 16 दिनों में भूलकर भी न करें ये गलतियां वरना पितृ हो जाएंगे नाराज

pitra paksha 2019, pitra paksha ke douraan kyaa nhi karna chahiye ,pitra paksha ke douraan ki savdhaniya

चैतन्य भारत न्यूज

अश्विन मास के कृष्ण पक्ष की पूर्णिमा तिथि को श्राद्ध पक्ष की शुरुआत होती है और अमावस्या को इसकी समाप्ति होती है। इस बार पितृ पक्ष 13 सितंबर 2019, पूर्णिमा के दिन से शुरु होकर 28 सितंबर, अमावस्या के दिन खत्म होंगे। पितृ पक्ष के दौरान पितरों की पूजा और पिंडदान करने की विशेष मान्यता है।

pitra paksha 2019, pitra paksha ke douraan kyaa nhi karna chahiye ,pitra paksha ke douraan ki savdhaniya

कहते हैं कि पितृ पक्ष के दौरान पितृ लोक के द्वार खुलते हैं और सभी पितर धरती पर आगमन करते हैं। यही कारण है कि इन दिनों में उनकी पूजा, तर्पण या श्राद्ध आदि किया जाता है। लेकिन पितरों की पूजा के दौरान कुछ खास बातों का भी ख्याल रखना पड़ता है, वरना आपको पितरों की नाराजगी झेलनी पड़ सकती है और जीवन में बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है। आइए जानते हैं पितरों की पूजा की सावधानियों के बारे में।



पितृ पक्ष के दौरान इन बातों का रखें ध्यान

  • श्राद्ध पक्ष में शोक व्यक्त कर पितरों को याद किया जाता है इसलिए कोई भी नया काम इन दिनों में शुरू नहीं करना चाहिए।
  • इन दिनों में किसी भी जश्न और त्योहार का आयोजन न करें।
  • इन दिनों कोई नया समान भी खरीदने से बचें।
  • पितृ पक्ष के दौरान स्त्री पुरुष को संबंध बनाने से बचना चाहिए।
  • पितृ पक्ष के दौरान परिवार में शांति बनाए रखें।

pitra paksha 2019, pitra paksha ke douraan kyaa nhi karna chahiye ,pitra paksha ke douraan ki savdhaniya

  • इन दिनों में आपका पूरा ध्यान सिर्फ पूर्वजों की सेवा में होना चाहिए।
  • पितृपक्ष के दौरान खान-पान बिल्कुल साधारण होना चाहिए। इस दौरान मांस, मछली, अंडे का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • श्राद्ध पक्ष में किसी भी पक्षी या जानवर खासतौर पर गाय, कुत्ता, बिल्ली, कौए को नहीं मारना चाहिए।
  • पितृपक्ष के दौरान घर के पुरुषों को बाल कटाने, शेव करने या नाखून आदि काटने से बचना चाहिए।

ये भी पढ़े…

इस दिन से प्रारंभ हो रहा है पितृ पक्ष, जानिए श्राद्ध की महत्वपूर्ण तिथियां

अनंत चतुर्दशी 2019 : अनंत सूत्र से होता है भगवान विष्णु का पूजन, जानिए इसका महत्व और पूजा-विधि

12 सितंबर को है गणपति विसर्जन, जानिए इसके नियम और शुभ मुहूर्त

Related posts