‘प्लाज्मा थेरेपी’ कोरोना का पहला मरीज हुआ ठीक, 4 दिन में ही हटाया गया वेंटिलेटर, हालत में तेजी से सुधार!

plasma therapy

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. पूरा विश्व इन दिनों कोरोना जैसी जानलेवा बीमारी से जूझ रहा है। इसका इलाज न मिल पाने के कारण लाखों की संख्या में लोगों की मौत हो रही है। इसी बीच दिल्ली से एक अच्छी खबर आई है। दिल्ली के एक निजी अस्पताल में एक कोरोना संक्रमित मरीज के इलाज के लिए प्लाज्मा थेरेपी शुरू किया गया था। इससे मरीज की सेहत में सुधार दिख रहा है। इतना ही नहीं बल्कि मरीज को वेंटीलेटर से भी हटाकर नार्मल वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है।

परिवार ने किया प्लाज्मा थेरेपी का अनुरोध

जानकारी के मुताबिक, 49 साल के व्यक्ति को 4 अप्रैल को कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद दिल्ली के साकेत में मौजूद मैक्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अगले कुछ दिनों में उसकी हालत बिगड़ गई और फिर 8 अप्रैल को वेंटिलेटर सपोर्ट पर रख दिया गया। जब मरीज में सुधार का कोई संकेत नहीं दिखा तो उनके परिवार ने प्लाज्मा थेरेपी का अनुरोध किया। जिसके बाद अस्पताल ने लाइव सेविंग प्रोटोकॉल के तहत और ऑफ लेवल इंडिकेशन के तहत मरीज को प्लाज्मा थेरेपी देने का फैसला किया।

थेरेपी के चौथे दिन हटा वेंटिलेटर

प्लाज्मा थेरेपी द्वारा उपचार प्राप्त करने के बाद मरीज की सेहत में सुधार दिखा और चौथे दिन यानी 18 अप्रैल की सुबह उसका वेंटीलेटर सपोर्ट को हटा दिया गया। मरीज अब बेहतर हो रहा है और उसके लगातार दो कोरना टेस्ट निगेटिव आ चुके हैं। मरीज को उसके माता-पिता के साथ अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उसके 80 वर्षीय पिता को भी प्लाज्मा थेरेपी दी गई थी लेकिन 15 अप्रैल को उनकी मौत हो गई।

क्या है प्लाज्मा थेरेपी?

प्लाज्मा थेरेपी में किसी बीमारी के संक्रमण से उबर चुके मरीज के खून से प्राप्त होने वाले प्लाज्मा से इलाज किया जाता है। बता दें रक्त चार चीजों से बना होता है- रेड ब्लड सेल, वाइट ब्लड सेल, प्लेट्लेट्स और प्लाज्मा। प्लाज्मा खून का तरल हिस्सा होता है। कोरोना वायरस से लड़ाई हमारा शरीर में मौजूद एंटीबॉडी लड़ती है। यह एंटीबॉडी प्लाज्मा की मदद से ही बनती हैं। मरीज के ठीक होने के बाद भी एंटीबॉडी प्लाज्मा के साथ शरीर में रहती हैं, जिन्हें डोनेट किया जा सकता है।

ये भी पढ़े…

कोविड-19 के मरीजों पर प्लाज्मा थेरेपी के क्लीनिकल ट्रायल को मिली मंजूरी

तमिल न्यूज चैनल के पत्रकार समेत 25 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव, रोकना पड़ा लाइव शो

रतन टाटा ने कोरोना वायरस फैलने के लिए बिल्डरों को ठहराया जिम्मेदार, कहा- झुग्गियों में कोरोना संकट, शर्म आनी चाहिए 

Related posts