पीएम मोदी 15 फरवरी को वंदे भारत एक्सप्रेस को दिखाएंगे हरी झंडी

चैतन्य भारत न्यूज।
देश की पहली इंजन रहित ट्रेन वंदे भारत (ट्रेन 18) एक्सप्रेस के सफर का लुत्फ अब यात्री जल्द ही उठा सकेंगे। रेल मंत्रालय से मिली जानकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 15 फरवरी को सुबह दस बजे नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे। वंदे भारत बीते 30 साल से चल रही शताब्दी एक्सप्रेस का स्थान लेगी।

देश की सबसे तेज गति की ट्रेन
वंदे भारत एक्सप्रेस को देश की सबसे तेज गति की ट्रेन करार दिया जा रहा है। यह ट्रेन दिल्ली और वाराणसी के बीच चलेगी। गौरतलब है कि 16 कोच वाली इस ट्रेन ने कोटा-सवाई माधोपुर सेक्शन में ट्रायल के दौरान 180 किमी/घंटे की स्पीड से दौड़ने में रिकॉर्ड बनाया है।

रेल मंत्री ने किया ट्रेन 18 का नामकरण
इस ट्रेन का निर्माण इंटीग्रल कोच फैक्टरी चेन्नई ने किया है। ट्रेन 18 के नाम से तैयार इस ट्रेन का नाम बदलकर रेल मंत्री पीयूष गोयल ने वंदे भारत एक्सप्रेस किया  है। इसकी सीटें 360 डिग्री तक घूम सकती हैं। यह ट्रेन दिल्ली से बनारस के सफर में केवल कानपुर और इलाहाबाद में रुकेगी।

वंदे भारत एक्सप्रेस का किराया शताब्दी एक्सप्रेस की तुलना में 50% ज्यादा
ट्रेन में एग्जिक्यूटिव क्लास के टिकट के लिए यात्री को 2,800 से 2,900 रुपए तक देना होगा। वहीं चेयर कार का किराया भी 1,600 से 1,700 रुपए के बीच निर्धारित किया जा सकता है।एग्जिक्यूटिव क्लास में नई दिल्ली से वाराणसी जाने वाले यात्रियों से सुबह की चाय, नाश्ते और दोपहर के भोजन के लिए 399 रुपये लिए जाएंगे जबकि चेयर कार के यात्रियों को 344 रुपये देने होंगे। वहीं, नई दिल्ली से कानपुर और प्रयागराज जाने वाले यात्रियों को एक्जीक्यूटिव क्लास और चेयर सीट के लिए क्रमश: 155 रुपये और 122 रुपये देने होंगे। इस ट्रेन का किराया शताब्दी एक्सप्रेस की तुलना में 40-50 प्रतिशत अधिक होगा।

Related posts