एक तरफ दमदार चौकीदार है तो दूसरी तरफ दागदारों की भरमारः पीएम मोदी

चैतन्य भारत न्यूज।

मेरठ। लोकसभा चुनाव 2019 के ऐलान के बाद पीएम नरेंद्र मोदी मेरठ में अपनी पहली चुनावी रैली कर रहे हैं। संबोधन की शुरुआत में उन्होंने कहा 2019 का चुनाव प्रचार मेरठ से शुरू करने की एक वजह है कि 1857 में स्वतंत्रता आंदोलन में मेरठ से ही आजादी का बिगुल फूंका गया था, जिसे 2019 का जनादेश समझना है वो यहां मौजूद जनसैलाब को देख ले।

अपना हिसाब दूंगा और साथ-साथ दूसरों का हिसाब भी लूंगा

उन्होंने कहा पांच वर्ष पहले जब मैंने आप सभी से आशीर्वाद मांगा था तो, आपने भरपूर प्यार दिया था। मैंने आपसे कहा था कि आपके प्यार को, आपके आशीर्वाद को मैं ब्याज सहित लौटाउंगा। और ये भी कहा था कि जो काम किया है, उसका हिसाब भी दूंगा और हां, अपना हिसाब दूंगा और साथ-साथ दूसरों का हिसाब भी लूंगा। ये दोनों काम साथ-साथ चलेंगे। तभी तो होगा हिसाब बराबर। चौकीदार हूं भई, और चौकीदार कोई नाइंसाफी नहीं करता। हिसाब होगा, सबका होगा, बारी बारी से होगा।

एक तरफ फैसले लेने वाली सरकार दूसरी तरफ दशकों तक फैसले टालने वाला इतिहास

उन्होंने कहा आज एक तरफ विकास का ठोस आधार है, दूसरी तरफ ना नीति है, ना विचार है और ना ही नीयत है। एक तरफ फैसले लेने वाली सरकार है, दूसरी तरफ दशकों तक फैसले टालने वाला इतिहास है। एक तरफ नए भारत के संस्कार हैं और दूसरी तरफ वंशवाद और भ्रष्टाचार का विस्तार है। एक तरफ दमदार चौकीदार है और दूसरी तरफ दागदारों की भरमार है।

महामिलावटी लोगों की सरकार जब दिल्ली में थी तब देश में होते थे बम धमाके

पीएम मोदी ने कहा इन महामिलावटी लोगों की सरकार जब दिल्ली में थी तब देश में आए दिन बम धमाके होते थे या नहीं? ये महामिलावटी आतंकियों को संरक्षण देते थे या नहीं? ये आतंकियों की भी जात और उनकी पहचान देखते थे या नहीं? उसके आधार पर तय करते थे कि आतंकी को बचाना है या सजा देनी है।

Related posts