विदेशी मीडिया के कवर पेज पर छाए नरेंद्र मोदी, इस बड़े अखबार ने की नकारात्मक टिप्पणी

narendra modi,india,foreign media

चैतन्य भारत न्यूज

विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र के चुनावी परिणामों पर दुनियाभर की नजरें टिकी हुई थी। भारतीय मीडिया के अलावा विदेशी मीडिया ने भी लोकसभा चुनाव 2019 को खूब तवज्जों दी है। ज्यादातर बड़े विदेशी अखबारों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जीत को बड़े पैमाने पर कवर किया है। आइए जानते हैं किस अखबार ने पीएम मोदी के बारे में क्या लिखा है-

  • वॉशिंगटन पोस्ट ने शीर्षक दिया है- ‘राष्ट्रवाद की अपील के साथ भारत के मोदी ने जीता चुनाव’। इसके साथ ही वॉशिंगटन पोस्ट ने लिखा कि, “भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी पार्टी ने दुनिया के सबसे बड़े चुनाव में भारी जीत हासिल की। मतदाताओं ने मोदी की शक्तिशाली और गर्वान्वित हिंदू की छवि पर मुहर लगा दी। मोदी की जीत उस धार्मिक राष्ट्रवाद की जीत है जिसमें भारत को धर्मनिरपेक्षता की राह से अलग हिंदू राष्ट्र के तौर पर देखा जाता है। भारत में 80 फीसदी आबादी हिंदू है लेकिन मुस्लिम, ईसाई, सिख और बौद्ध व अन्य धर्मों के लोग भी रहते हैं।”
  • बीबीसी वर्ल्ड ने पीएम मोदी की तारीफ में लिखा कि, ‘भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आम चुनाव में शानदार जीत दर्ज करते हुए पांच वर्षों का दूसरा कार्यकाल हासिल कर लिया है। इस बहुमत को पीएम मोदी की हिंदू राष्ट्रवादी राजनीति का बहुमत बताया जा रहा है।’
  • गल्फ न्यूज ने शीर्षक दिया है- “TSUNAMO 2.0 SWEEPS INDIA इसी के साथ उन्होंने लिखा है कि, ‘दशकों बाद बीजेपी की अभूतपूर्व जीत।’ गल्फ न्यूज के एक लेख में लिखा है कि, ‘साल के शुरुआत में मोदी के सामने किसानों की समस्याएं, रोजगार संकट, राफेल जैसे मुद्दों का पहाड़ खड़ा था लेकिन पुलवामा और भारत की बालाकोट में स्ट्राइक के बाद मोदी व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने बीजेपी की कहानी नए सिरे से लिख दी।’
  • चीन का प्रमुख अखबार ग्लोबल टाइम्स ने लिखा, ‘भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनाव में बड़ी जीत दर्ज करने के बाद समावेशी भारत का वादा किया। अब मोदी सरकार के लिए सबसे बड़ी चुनौतियां रोजगार, कृषि और बैकिंग सेक्टर होंगे।’
  • पाकिस्तान का सबसे बड़ा अखबार डॉन ने लिखा कि, ‘गुरुवार को आम चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बहुमत हासिल करते हुए दूसरा कार्यकाल हासिल कर लिया है। चुनाव के दौरान राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर आक्रामक होते मोदी को ‘अजेय जादूगर’ के तौर पर देखा गया। मिस्टर मोदी ने बालाकोट एयरस्ट्राइक के कोरियोग्राफर के तौर पर खुद को स्थापित करते हुए बंटे हुए विपक्ष को कुचल दिया।” डॉन ने ये भी लिखा कि, ‘अब तक भारत की नीति पाकिस्तान के प्रति जैसी रही है क्या उसमें कोई बदलाव आएगा। सवाल ये है कि क्या मोदी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के शांति प्रस्ताव को तवज्जो देंगे? मोदी की यह जीत पाक विरोधी नीति पर मुहर है।’
  • भारत के लोकसभा चुनाव नतीजों पर ‘द गार्डियन’ ने लिखा कि, ‘मोदी की असाधारण लोकप्रियता से भारतीय राजनीति अब हिंदू राष्ट्रवाद के एक नए युग में प्रवेश कर गई है।’ अखबार ने लिखा कि, ‘बीजेपी और मोदी को रोकने के लिए तमाम तरह की कोशिशें की गईं लेकिन जनता ने इस नेता और उनकी पार्टी पर अपना भरोसा जताया और मोदी को एक बार फिर भारत का प्रधानमंत्री बना दिया.’ उन्होंने आगे पीएम मोदी की जीत के लिए नकारात्मक टिप्पणी की है। अखबार ने लिखा है कि, ‘भारत की आत्मा के लिए मोदी की जीत बुरी है। दुनिया को एक और लोकप्रिय राष्ट्रवादी नेता की जरूरत नहीं है जो अल्पसंख्यकों को दूसरे दर्जे का नागरिक मानता हो।’
  • न्यू यॉर्क टाइम्स ने पीएम मोदी की जीत पर शीर्षक दिया है ‘भारत के चौकीदार नरेंद्र मोदी की चुनाव में ऐतिहासिक जीत’ इसी के साथ उन्होंने लिखा है, ‘मोदी ने खुद को भारत का चौकीदार कहा जबकि अल्पसंख्कों नेखुद को असुरक्षित महसूस किया। अरबपतियों को फायदा पहुंचाने के साथ-साथ उन्होंने अपने कमजोर पारिवारिक पृष्ठभूमि का बखान किया। इन सभी विरोधाभास के बावजूद प्रधानमंत्री मोदी ने सबसे मजबूत हिंदू राष्ट्रवाद के सहारे पार्टी को शानदार जीत दिलाई।’
  • कतर की प्रमुख मीडिया अलजजीरा ने अपनी कवरेज में लिखा कि, ‘मोदी पहले गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री हैं जो पांच वर्षों के कार्यकाल के बाद दोबारा सत्ता में लौटे हैं।’

Related posts