प्रयागराज: पीएम मोदी ने दिव्यांगों को बांटे 56 हजार उपकरण, बनाए ये 6 रिकॉर्ड

pm modi

चैतन्य भारत न्यूज

प्रयागराज. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज उत्तरप्रदेश के दो जिलों के दौरे पर हैं। पहले वह प्रयागराज में होने वाले दिव्यांग महाकुंभ में शामिल होने पहुंचे। इस दौरान पीएम मोदी ने 26,791 दिव्यांगों और बुजुर्गों को करीब 56 हजार सहायक उपकरण बांटे। फिर उन्होंने सामाजिक अधिकारिता शिविर को संबोधित किया।



पीएम मोदी ने कहा कि, ‘पहले की सरकारों के समय, इस तरह के कैंप बहुत ही कम लगा करते थे और इस तरह के मेगा कैंप तो गिनती के होते थे। बीते 5 साल में हमारी सरकार ने देश के अलग-अलग इलाकों में करीब 9,000 कैंप लगवाए हैं।’


प्रधानमंत्री ने कहा कि, ‘पिछली सरकार के पांच साल में जहां दिव्यांगजनों को 380 करोड़ रुपए से भी कम के उपकरण बांटे गए, वहीं हमारी सरकार ने 900 करोड़ रुपए से ज्यादा के उपकरण बांटे हैं। बीते 4-5 वर्षों में देश की सैकड़ों इमारतें, 700 से ज्यादा रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट, दिव्यांगजनों के लिए सुगम्य बनाई जा चुकी हैं, जो बची हुई हैं उन्हें भी सुगम्य भारत अभियान से जोड़ा जा रहा है।’

इस दौरान पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री ने दिव्यांगजनों से कहा कि, ‘पहले अगर बैंक में आपके 10 लाख रुपए थे और बैंक डूब जाए, तो आपको 1 लाख रुपए से ज्यादा नहीं मिलता था। हमने अब नियम बदलकर 1 लाख की जगह 5 लाख कर दिया है। लोगों के पैसों को सुरक्षित करने का काम हमने किया है। इससे बैंकों के प्रति विश्वास भी बढ़ेगा। 60 वर्ष की आयु के बाद बुजुर्गों को एक निश्चित राशि पर एक निश्चित ब्याज मिले, उनका निवेश सुरक्षित रहे। इसके लिए हमारी सरकार ने प्रधानमंत्री वय योजना भी शुरू की थी। इसका मकसद यही था कि अगर बाजार में ब्याज दरें कम हो जाएं तो उसका प्रभाव उन पर कम से कम पड़े।’


पीएम मोदी ने कुछ नियमों का जिक्र करते हुए कहा कि, ‘दिव्यांगों पर अगर कोई अत्याचार करता है, उन्हें परेशान करता है, तो इससे जुड़े नियमों को सख्त किया है। दिव्यांगों की नियुक्ति के लिए विशेष अभियान चलाए। सरकारी नौकरियों में दिव्यांगों के लिए आरक्षण 3% से बढ़ाकर 4% कर दिया है।’

सरकार का दावा है कि प्रयागराज में 6 रिकॉर्ड बने हैं जो इस प्रकार हैं-

  1. 360 से ज्यादा लाभार्थियों ने एक साथ व्हीलचेयर चलाई। सरकार के मुताबिक, भारत ने अमेरिका का रिकॉर्ड तोड़ा।
  2. दुनिया की सबसे लंबी ट्राइसिकिल की परेड हुई, जिसमें 295 लाभार्थी शामिल हुए। इससे पहले ऐसा कोई रिकॉर्ड नहीं है।
  3. 2000 लाभार्थियों को सांकेतिक भाषा पाठ करने के उपकरण वितरण का रिकॉर्ड बना।
  4. 12 घंटे में सबसे ज्यादा ट्राइसिकिल वितरण करने का रिकॉर्ड भी मोदी की मौजूदगी में बना।
  5. वॉकर्स की सबसे लंबी परेड हुई। अब तक ऐसा कोई रिकॉर्ड नहीं बना था।
  6. 8 घंटे में 4900 से ज्यादा कान की मशीनें फिट करने का रिकॉर्ड बनाया गया। पहले यह रिकॉर्ड स्टारकी फाउंडेशन के नाम था।

बता दें पीएम मोदी शनिवार को चित्रकूट के गोंडा गांव में बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास भी करेंगे। ये एक्सप्रेस वे चार लेन का होगा, जिसका विस्तार छह लेन तक किया जा सकता है। यह एक्सप्रेस वे चित्रकूट, बांदा, महोबा, हमीरपुर, जालौन, उरई और इटावा जिले से होकर आगरा एक्सप्रेस वे से जुड़ेगा। इसकी लागत करीब 15 हजार करोड़ आएगी और यह तीन साल में बनकर तैयार होगा।

ये भी पढ़े…

105 की उम्र में चौथी पास करने वालीं भागीरथी अम्मा का बनेगा आधार कार्ड, पीएम मोदी ने मन की बात में किया था जिक्र

मोदी सरकार ने सरोगेसी बिल संशोधन को इन शर्तों के साथ दी मंजूरी, अब विधवा-तलाकशुदा भी बन सकेंगी सरोगेट मदर

अमेरिका पहुंचते ही डोनाल्ड ट्रंप ने भारत और पीएम मोदी की तारीफ में कही यह बात

Related posts