रणनीतिक साझेदारी काउंसिल समेत भारत और सऊदी अरब ने कई समझौतों पर किए हस्ताक्षर

narendra modi saudi arabia

चैतन्य भारत न्यूज

रियाद. दो दिवसीय सऊदी अरब के दौरे के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वापस भारत लौट आए हैं। पीएम मोदी ने अपने दौरे में सऊदी अरब में हुए तीसरे फ्यूचर इन्वेस्टमेंट इनिशिएटिव (FII) फोरम में हिस्सा लिया और संबोधित किया। उन्होंने किंग सलमान और जॉर्डन के किंग से भी मुलाकात की। इस यात्रा में भारत और साउदी के बीच कई बड़े समझौते हुए हैं।



जानकारी के मुताबिक, निवेश के लिए और जम्मू-कश्मीर के मसले को लेकर पीएम मोदी का यह दौरा काफी अहम रहा। इसी दौरान यह भी तय हुआ कि भारत-सऊदी अरब एक काउंसिल बनाएंगे, जो दोनों देशों के बीच रणनीतिक साझेदारी पर काम करेगा। बता दें सऊदी अरब चौथा ऐसा देश है, जिसके साथ भारत ने ये समझौता किया है। इस काउंसिल की अध्यक्षता भारतीय प्रधानमंत्री और किंग सलमान करेंगे। इसके जरिए दोनों देशों के बीच विकास और रणनीतिक समझौते आगे बढ़ेंगे। वैसे सऊदी अरब और पाकिस्तान के रिश्ते काफी गहरे हैं, और ऐसे में भारत का सऊदी अरब के साथ ये समझौता होना काफी अहम माना जा रहा है। इस समझौते के तहत भारत और सऊदी अरब के प्रमुख एक तय अंतराल के बाद मुलाकात करेंगे और कई मसलों पर बातचीत करेंगे।

इन बड़े समझौतों पर हुए हस्ताक्षर

इसके अलावा भारत और सऊदी अरब ने अपने संबंधों को मजबूती देने के लिए तेल और गैस, रक्षा एवं नागर विमानन समेत और भी कई प्रमुख क्षेत्रों में समझौतों पर हस्ताक्षर किए। साथ ही इन बड़े समझौतों के अलावा भारत और सऊदी अरब के बीच एनर्जी सिक्युरिटी, स्ट्रेटेजिक पेट्रोलियम रिजर्व को लेकर भी समझौते हुए।

निवेश बढ़ाने पर दिया जोर

सऊदी अरब के दौरे के दौरान पीएम मोदी ने सबसे ज्यादा निवेश करने पर दिया। उन्होंने कहा कि, ‘साल 2024 तक भारत रिफाइनिंग, पाइपलाइन, गैस टर्मिनल के क्षेत्र में 100 बिलियन डॉलर का निवेश करना चाहता हैं।’ इसके अलावा पीएम मोदी ने सऊदी अरब से इन्फ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में भी निवेश बढ़ाने की बात कही है। इसी तरह पीएम मोदी के इस दौरे में कुल 12 बड़े समझौते हुए हैं।

ये भी पढ़े…

सऊदी पहुंचे पीएम मोदी ने दिए कई सवालों के जवाब, बताया तेल और रणनीति के लिहाज से क्यों अहम है यह दौरा

सऊदी अरब में बड़ा हादसा, बस-ट्रक की टक्कर में 35 विदेशी नागरिकों की मौत

सऊदी के प्रिंस की चेतावनी- अगर ईरान को रोकने में दुनिया साथ नहीं आई, तो आसमान छुएंगे तेल के दाम

Related posts