पीएम का दावा- फिर वापसी करेगी बीजेपी सरकार, कांग्रेस का घोषणापत्र, महागठबंधन, एयर स्ट्राइक जैसे कई मुद्दों पर की चर्चा

चैतन्य भारत न्यूज

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए इन दिनों सभी राजनीतिक दल तैयारियों में लगे हुए हैं। पीएम मोदी भी पार्टी के रोजाना अलग-अलग प्रदेशों में प्रचार कर रहे हैं। इसी बीच उन्होंने एक न्यूज चैनल को इंटरव्यू दिया जहां पीएम मोदी ने कई मुद्दों पर बेबाकी से अपनी बात रखी है। इस दौरान पीएम मोदी ने कांग्रेस का घोषणापत्र, महागठबंधन, एयर स्ट्राइक जैसे और भी कई मुद्दों पर पक्ष रखा है। साथ ही पीएम ने तो यह दावा भी किया कि, उनकी सरकार एक बार फिर वापसी कर रही है।

60 महीनों का कामकाज

पीएम मोदी ने इस बारे में कहा कि, ‘’मैंने जनता से 60 महीने मांगे थे और अगर आपको मेरे 60 महीनों के काम से जनता को संतोष है तो उसका श्रेय मुझे नहीं जनता को जाता है क्योंकि जनता ने ही मुझे अवसर दिया। 60 महीने में आप देखेंगे कि नई-नई आशा-आकांक्षा की बात आती है।’’

वाजपेयी और मोदी कांग्रेस गोत्र से नहीं

पीएम मोदी ने कहा, ‘’देश की आजादी के बाद सिर्फ दो ही ऐसे प्रधानमंत्री बने हैं, जो कांग्रेस गोत्र के नहीं हैं। इन दो प्रधानमंत्रियों के अलावा बाकी जितने लोग पीएम बने है वह किसी और दल से बने होंगे लेकिन उनका सबका गोत्र कांग्रेस रहा है। यह दो पीएम है- अटल बिहारी वाजपेयी और नरेंद्र मोदी। यह दोनों ही पीएम ऐसे हैं जो कांग्रेस गोत्र से नहीं आए हैं और इसलिए पहली बार देश को कांग्रेसी सोच वाली सरकार और बिन कांग्रेसी सोच वाली सरकार क्या होती है ये पहली बार पता चला है।’’

पीएम ने बताई कांग्रेस के घोषणापत्र को ढकोसला कहने की वजह

पीएम मोदी ने वजह बताते हुए कहा, ‘’कांग्रेस के घोषणापत्र ने बहुत निराशा पैदा की है। कांग्रेस के पास से एक मैच्योर घोषणापत्र जारी होने की अपेक्षा होना बहुत स्वाभाविक है। कांग्रेस बीजेपी से भी शानदार चीजें लेकर आती वह अच्छा होता लेकिन उन्होंने शॉर्टकट ढूंढा है। उन्होंने 2004 में किया? 2009 में किया? उनका ट्रैक रिकॉर्ड चुनावी वादों वाला है।’’

कांग्रेस ने की सेना को जलील की अपील

पीएम मोदी ने कहा, ‘’कांग्रेस राष्ट्रीय सुरक्षा जैसे मुद्दों पर अपने घोषणापत्र में ऐसी बात कर रही है कि- देश की सेना को इतना जलील करें, बलात्कार के आरोप वाली बातें करें, ऐसा शोभा देता है क्या? भारत की सेना का संयुक्त राष्ट्र के पीस कीपिंग फोर्स में और विश्व के अनेक देशों में ये पीस कीपिंग फोर्स के जवान होने के नाते जाकर काम करते हैं। कहीं-कहीं तो गरीब से गरीब देशों में जाते हैं। बड़े ही गर्व की बात है कि विश्वभर की सेना के अंदर जो लोग पीस कीपिंग फोर्स में आते हैं उन सबके बीच में भी भारत की फोर्स का अनुशासन, सैनिकों का व्यवहार, उनका आचार, दुनिया गर्व करती है।’’

राजद्रोह की प्रवृत्ति के लोगों पर राजद्रोह का मुकदमा

पीएम मोदी ने कहा, ‘’जितने भी लोग राष्ट्रद्रोह की प्रवृत्ति करते हैं उन सभी पर राजद्रोह का मुकदमा चलना चाहिए। न्यायपालिका हमारी है और हमें उस पर भरोसा करना चाहिए, वो दूध का दूध और पानी का पानी कर सकते हैं। ये राजद्रोह को बदले की भावना से कर रहे हैं, हमारी न्यायपालिका व्यवस्थाएं हैं, अगर कानून ही नहीं होगा तो आप करेंगे क्या? ‘’

पीडीपी और बीजेपी के गठबंधन को पीएम ने कहा मिलावट

पीएम मोदी ने इस बारे में कहा, ‘’एक प्रकार से मिलावट वाला ही कार्यक्रम था हमारा। लेकिन हमारे पास ऐसी कोई स्थिति नहीं थी कि कोई सरकार बन पाए। महबूबा जी का एक अलग काम करने का तरीका था। हमारी कोशिश अच्छा करने की थी, कुछ कमी रह गई हम नहीं कर पाए। नहीं कर पाए तो हम जम्मू-कश्मीर की जनता पर बोझ नहीं बनना चाहते थे। इसलिए हमने तो नमस्ते कहकर कहा हमें जाने दीजिए।’’

पाकिस्तान को कौन चलाता है?

पीएम मोदी ने कहा, ‘’दुनियाभर के लोगों की सबसे बड़ी मुश्किल यही है कि, पाकिस्तान में यह पता ही नहीं चलता है कि आखिर देश कौन चलाता है? चुनी हुई सरकार चलाती है या सेना चलाती है, या फिर आईएसआई चलाती है या जो लोग पाकिस्तान से भागकर विदेशों में बैठे हैं वो चला रहे हैं। हर किसी के लिए ये एक बड़ी चिंता का विषय बना हुआ है कि किससे बात करें।’’

चीन से है कई सारे सवाल

पीएम मोदी ने कहा, ‘’चीन के साथ हमारे कई विवाद हैं। चीन से हमारे जमीन के प्रश्न हैं, सीमा के प्रश्न हैं और भी बहुत कुछ है लेकिन आना जाना होता है और ना ही मिलना होता है, मीटिगें होती हैं, निवेश होता है। चीन को लेकर हमने मन बना लिया है कि हम हमारे मतभेदों को विवादों में बदलने नहीं देंगे।’’

एयर स्ट्राइक पर पीएम का जवाब

पीएम मोदी ने एयर स्ट्राइक पर कहा, ‘’सबसे बड़ा सबूत पाकिस्तान ने स्वयं ट्वीट के जरिए दुनिया को दिया। हमने तो कोई दावा नहीं किया था। हम तो सिर्फ अपना काम करके चुप बैठे थे। पाकिस्तान ने कहा कि- आए हमको मारा। फिर उन्हीं के लोगों ने वहां से बयान दिया। इस सारे में कितने लोग मरे। कितने लोग नहीं मरे। मरे कि नहीं मरे। ये जिसको विवाद करना है करते रहें। हमारी रणनीति यह थी कि, हम गैर सैनिक एक्टिविटी करेंगे और जनता का कोई नुकसान ना हो इसका ध्यान रखेंगे। एयरफोर्स ने जो करना था अपना बहुत सफलतापूर्वक काम किया।’’

पुलवामा हमले के समय शूटिंग को लेकर पीएम ने तोड़ी चुप्पी

पीएम मोदी ने इस बारे में कहा, ”पुलवामा की घटना मुझे पहले से पता थी क्या? मेरा तो रूटीन कार्यक्रम था उत्तराखंड में। कुछ चीजें ऐसे होती हैं जिसका हैंडल करने का तरीका होता है।”

Related posts