नए साल में पीएम मोदी ने 6 करोड़ किसानों को दिया तोहफा, खाते में ट्रांसफर की 12000 करोड़ की राशि

pm modi

चैतन्य भारत न्यूज

बेंगलुरु. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को दो दिवसीय कर्नाटक दौरे पर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने तुमकुर स्थित सिद्धगंगा मठ में एक जनसभा को संबोधित किया। जनसभा में पीएम मोदी ने नागरिकता कानून, अनुच्छेद 370 समेत कई और भी मुद्दों पर बात कही।


तुमकुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पीएम किसान सम्मान निधि योजना की तीसरी किस्त किसानों को दी। उन्होंने डिजिटल ट्रांजैक्शन के जरिए 12000 करोड़ रुपए की राशि ट्रांसफर की जो कि 6 करोड़ किसानों के खाते में गई। बता दें किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को हर साल 6 हजार रुपए की राशि मिलती है।

किसानों को दी नए साल की शुभकामनाएं

पीएम मोदी ने कहा कि, ‘आज एक साथ देश के 6 करोड़ किसान परिवारों के खाते में 12 हजार करोड़ रुपए जमा करवाए गए हैं। नए वर्ष, नए दशक की शुरुआत में देश के अन्नदाता-हमारे किसान भाई-बहनों के दर्शन होना, मेरे लिए बहुत सौभाग्य की बात है। मैं 130 करोड़ देशवासियों की तरफ से, देश के हर किसान को नए वर्ष की शुभकामनाएं देता हूं।’

पुराने दौर को किया याद 

पीएम मोदी ने आगे कहा कि, ‘देश में एक वो दौर भी था जब देश में गरीब के लिए एक रुपए भेजा जाता था तो सिर्फ 15 पैसे पहुंचते थे। बाकी के 85 पैसे बिचौलिए मार जाते थे। आज जितने भेजे जा रहे हैं, उतने पूरे के पूरे सीधे गरीब और किसान के खाते में पहुंच रहे हैं।’

उम्मीदों के साथ शुरू हुआ तीसरा दशक

नए साल का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि, ‘भारत ने नई ऊर्जा और नए उत्साह के साथ 21वीं सदी के तीसरे दशक में प्रवेश किया है। आपको याद होगा कि बीते दशक की शुरुआत किस तरह के माहौल से हुई थी। लेकिन 21वीं सदी का ये तीसरा दशक उम्मीदों की, आकांक्षाओं की मजबूत नींव के साथ शुरु हुआ है।’

पाकिस्तान में हिन्दुओं के साथ भेदभाव

पाकिस्तान का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि, ‘पाकिस्तान में हिंदुओं के साथ धर्म के आधार पर भेदभाव होता है। आज हर देशवासी के मन में सवाल है कि जो लोग पाकिस्तान से अपनी जान बचाने के लिए, अपनी बेटियों की जिंदगी बचाने के लिए यहां आए हैं, उनके खिलाफ तो जुलूस निकाले जा रहे हैं, लेकिन जिस पाकिस्तान ने उन पर ये जुल्म किया, उसके खिलाफ इन लोगों के मुंह पर ताले क्यों लगे हुए हैं।’

पाकिस्तान के खिलाफ आवाज उठाइए

पीएम मोदी ने आंदोलनकारियों को कहा कि, ‘जो लोग आज भारत की संसद के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं, मैं उन्हें कहना चाहता हूं कि आज जरूरत अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान की इस हरकत को बेनकाब करने की है। अगर आपको आंदोलन करना ही है, तो पाकिस्तान के पिछले 70 साल के कारनामों के खिलाफ आवाज उठाइए।’

संत समाज को लेकर यह कहा 

उन्होंने कहा, ‘भारत ने हमेशा संतों को, ऋषियों को, गुरुओं को सही मार्ग के लिए एक प्रकाश स्तंभ के रूप में देखा है। आज मैं संत समाज से 3 संकल्पों में सक्रिय सहयोग चाहता हूं। पहला- अपने कर्तव्यों और दायित्वों को महत्व देने की अपनी पुरातन संस्कृति को हमें फिर मजबूत करना है। दूसरा, प्रकृति और पर्यावरण की रक्षा। तीसरा, जल संरक्षण, जल संचयन के लिए जनजागरण में सहयोग।’

ये भी पढ़े…

पीएम नरेंद्र मोदी ने लखनऊ में किया अटल बिहारी वाजपेयी की मूर्ति का अनावरण, कीमत 89 लाख से ज्यादा

 नरेंद्र मोदी के ये दमदार नारे, जो बन गए थे चर्चा का विषय

13 साल में शादी, गरीबी में बीता बचपन, काफी संघर्ष भरा है नरेंद्र मोदी का चायवाले से प्रधानमंत्री बनने तक का सफर

ट्रंप, पुतिन और शी जिनपिंग को पछाड़ दुनिया के सबसे ताकतवर शख्स बने नरेंद्र मोदी

Related posts