भारत में कोरोना वायरस के 75 मामले आए सामने, पीएम मोदी बोले- घबराएं नहीं, सावधानी बरतें

pm modi coronavirus

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. दुनियाभर में फैले कोरोना वायरस ने भारत में भी प्रवेश कर लिया है। भारत में अब तक कोरोना वायरस के 75 मामले सामने आ चुके हैं। ऐसे में सभी के मन में डर की स्थिति बन गई है लेकिन सरकार इसे लेकर सतर्क है और एहतियात भरे कदम उठा रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी लोगों से सब्र बनाए रखने और परेशान न होने की अपील की है।


पीएम मोदी ने कहा- सभी सावधानी बरतें

पीएम मोदी ने गुरुवार को एक ट्वीट कर लोगों से कहा कि कोरोनावायरस से घबराने नहीं बल्कि सावधानी बरतने की जरुरत है। उन्होंने ट्वीट में लिखा कि, ‘पैनिक को कहें नो, सावधानियों को कहें हां। हर कोई ज्यादा से ज्यादा सावधानी बरतें और इसे फैलने से रोकने में सहयोग करें। केंद्र सरकार के मंत्री भी विदेश दौरे पर नहीं जाएंगे। मैं देशवासियों से भी गैर जरूरी यात्रा से बचने की गुजारिश करता हूं। हमें मिलकर इसके खिलाफ लड़ाई लड़नी है और चेन को फैलने से रोकना है।’

कोरोना वायरस से संक्रमित फेफड़ों की पहली बार जारी हुई 3D तस्वीर, फेफड़ों की हो जाती है ऐसी हालत

‘घबराने की जरूरत नहीं’

स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी जनता से इस बीमारी को लेकर चिंता न करने की बात कही है। साथ ही उन्होंने कोरोना वायरस को लेकर अब तक सरकार द्वारा किए गए प्रयासों की जानकारी भी दी है। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि, ‘इसका किसी भी सामुदायिक स्तर पर फैलने का कोई उदाहरण नहीं मिला है, इसका फैलाव केवल स्थानीय स्तर पर है। इसलिए घबराने की जरूरत नहीं है।’

मास्क हमेशा आवश्यक नहीं होता

संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने मीडिया से बातचीत के दौरान यह भी बताया कि, ‘मास्क की जरूरत नहीं, यह हमेशा आवश्यक नहीं होता है, अगर कोई व्यक्ति प्रभावी सामाजिक दूरी बनाए रखता है, तो इसकी आवश्यकता नहीं पड़ती है। बीमारी से घबराने की जरूरत नहीं है।’

अमिताभ ने लिखी कोरोना वायरस पर कविता, कहा- आने दो कोरोना-वोरोना

भारत में 52 परिक्षण सुविधाएं उपलब्ध

अग्रवाल ने मेडिकल सुविधाओं के बारे में बात करते हुए कहा कि, ‘हमारे पास पहले से ही लगभग 1 लाख परीक्षण किट उपलब्ध हैं, अतिरिक्त किट पहले ही ऑर्डर किए जा चुके हैं और वे खरीद की प्रक्रिया में हैं।’ उन्होंने आगे बताया, भारत में 52 परिक्षण सुविधाएं हैं। साथ ही कुल 56 नमूना संग्रह केंद्र बनाए गए हैं।

अन्य देशों की मदद कर रहा भारत

अग्रवाल के मुताबिक, भारत कोरोना वायरस से लड़ने के लिए दूसरे देशों की भी मदद कर रहा है। उन्होंने कहा कि, ‘अब तक, भारत सरकार ने मालदीव, म्यांमार, बांग्लादेश, चीन, अमेरिका, मेडागास्कर, श्रीलंका, नेपाल, दक्षिण अफ्रीका और पेरू जैसे 48 अन्य देशों से 900 भारतीय नागरिकों को रेस्क्यू किया है।’

भारत में 73 लोग संक्रमित

जानकारी के मुताबिक, भारत में अब तक कोरोना वायरस के 75 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें से 56 भारतीय और 17 विदेशी हैं। गुरुवार को कर्नाटक में कोरोना से पहली मौत हो गई है। कोरोना वायरस से निपटने के लिए भारत विश्व स्वास्थ्य संगठन के साथ मिलकर प्रयास कर रहा है। गौरतलब है कि चीन से फैले कोरोना वायरस से दुनियाभर में करीब 4900 लोगों की मौत हो गई है और 1,34,679 लोग इससे संक्रमित हैं, जबकि कुल 69,142 लोगों को इलाज के बाद छुट्टी दी जा चुकी है।

WHO ने कोरोना वायरस को घोषित किया महामारी, अब तक 4 हजार से ज्यादा लोगों की मौत

कोरोना वायरस हेल्पलाइन 011-23978046 बनाई

  • भारत सरकार ने कोरोना वायरस से संबंधित किसी भी तरह की पूछताछ के लिए केंद्रीय स्तर पर हैल्पलाइन नंबर जारी किया है- 011-23978046।
  • वहीं दिल्ली सरकार ने नंबर 011-22307145 को हेल्पलाइन बनाया है।
  • इसके अलावा 15 राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में भी हैल्पलाइन बनाई गई हैं। इनमें बिहार, गोवा, गुजरात, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, कर्नाटक, पंजाब, सिक्किम, तेलंगाना, उत्तराखंड, दादर व नगर हवेली, दमन व दीव, लक्षद्वीप और पुडुचेरी के लिए फोन नंबर 104 हैल्पलाइन बना है।
  • मेघालय में 108 और मिजोरम में 102 नंबर पर हेल्पलाइन बनाई गई है।

ये भी पढ़े…

100 साल पहले फैली थी कोरोना वायरस से ज्यादा खतरनाक बीमारी, 5 करोड़ से ज्यादा लोगों की हुई थी मौत!

IPL-2020 पर मंडराए खतरे के बादल, कोरोना वायरस के कारण टाली जा सकती है लीग!

कोरोना वायरस के डर से दुनियाभर में बदला अभिवादन का तरीका, जानें अलग-अलग देशों की परंपराएं

Coronavirus: सरकार ने बताया कोरोना वायरस से कैसे बचें? जानें क्या करें और क्या ना करें

Related posts