कोरोना लॉकडाउन को लेकर पीएम मोदी ने सभी मुख्यमंत्रियों संग की वीडियो कॉन्फ्रेंस, गमछे का मास्क पहने दिखे

narendra modi

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. भारत में कोरोना वायरस का प्रकोप धीरे-धीरे बढ़ता जा रहा है। देश में अब तक 7 हजार से ज्यादा लोग कोरोना से संक्रमित हैं। संक्रमण बढ़ता देख प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक की। जानकारी के मुताबिक, बैठक के दौरान ज्यादातर राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने पर सहमति जताई।

पीएम ने पहना गमछे का मास्क

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान प्रधानमंत्री मोदी गमछे का मास्क पहने नजर आए। पीएम मोदी ने इसके जरिए लोगों को यह संदेश देने की कोशिश की है कि यदि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचना है तो अपनी नाक और मुंह को ढकना होगा। इसके लिए जरूरी नहीं है कि महंगे मास्क ही पहने जाएं। उन्होंने कहा कि, ‘कोरोना से बचने के लिए मुंह का कवर करना जरूरी है। इसके लिए गमछा, कपड़ा, रुमाल कुछ भी इस्तेमाल किया जा सकता है।’

ममता बनर्जी ने की आर्थिक मदद की मांग

पीएम मोदी के साथ इस बैठक में शामिल दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी लॉकडाउन बढ़ाने के लिए सुझाव दिए हैं। सीएम केजरीवाल ने न सिर्फ राज्य बल्कि राष्ट्रीय स्तर पर लॉकडाउन बढ़ाने की मांग की है। वहीं पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार से आर्थिक मदद मांगी है।

सभी मुख्यमंत्रियों से मांगे सुझाव

बता दें पंजाब और ओडिशा ने पहले ही 14 अप्रैल के बाद लॉकडाउन को आगे बढ़ाने का फैसला किया है। इस बैठक में पीएम मोदी ने कोरोना वायरस के मौजूदा हालात को लेकर चर्चा की है। उन्होंने इस जानलेवा वायरस से निपटने के लिए सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से सुझाव भी मांगे हैं। प्रधानमंत्री ने सभी राज्य सरकारों से कहा कि, ‘वो आप सभी के लिए 24*7 उपलब्ध है। इस मुश्किल घड़ी में केंद्र और राज्य सरकारें कंधे से कंधा मिलाकर चलेंगी और निश्चित रणनीति के तहत चलेंगी, तब हम देश और देशवासियों को कोरोना संक्रमण से होने वाले नुकसान से बचा सकेंगे।’

सभी पार्टियों से की थी चर्चा

इससे पहले पीएम मोदी सभी राजनीतिक पार्टियों के मुखिया से भी बातचीत कर चुके हैं। उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बीजेपी, कांग्रेस, डीएमके, एआईएडीएमके, टीआरएस, सीपीआईएम, टीएमसी, शिवसेना, एनसीपी, अकाली दल, एलजेपी, जेडीयू, एसपी, बीएसपी, वाईएसआर कांग्रेस और बीजेडी के मुखिया के साथ कोरोना और लॉकडाउन पर चर्चा की थी। इस दौरान 80 फीसदी राजनीतिक पार्टियों ने लॉकडाउन बढ़ाने पर सहमति दी।

पीएम मोदी ने दिए थे संकेत

गौरतलब है कि पीएम मोदी पहले भी लॉकडाउन बढ़ाने के संकेत दे चुके हैं। पीएम मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में कहा था कि, ‘कोरोना वायरस के खिलाफ लंबी लड़ाई है। सभी की जिंदगी बचाना सरकार की प्राथमिकता है। देश में स्थिति ‘सामाजिक आपातकाल’ के समान है। इसके लिए कड़े फैसलों की जरूरत है और हमें निरंतर सतर्क रहना चाहिए।’

ये पढ़े…

वायरल ट्वीट को लेकर पीएम मोदी ने कहा- खुराफात लगती है मेरे सम्मान में 5 मिनट खड़े होने की मुहिम

पीएम मोदी बोले- कोरोना से ये लड़ाई बहुत लंबी है, ना थकना है, ना हारना है, बस जीतना है भी

Related posts