अलविदा 2019 : भारतीय राजनीति के वो स्तंभ, जिन्होंने इस साल दुनिया को कहा ‘अलविदा’

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. साल 2019 का आज आखिरी दिन है। यह साल खुशियों की सौगात तो लाया ही था और साथ ही कई सारे जख्म भी दे गया। साल 2019 में राजनीति, सिनेमा और अन्य क्षेत्रों की कई शख्सियतों ने दुनिया को अलविदा कहा। इस साल भारतीय जनता पार्टी को सभी बड़ी क्षति हुई। पार्टी ने अपने कई बड़े नेताओं को खो दिया। आईए जानते हैं साल 2019 में कौन-कौन से बड़े नेताओं ने दुनिया को अलविदा कहा-


अरुण जेटली

भाजपा के दिग्गज नेता और वरिष्ठ वकील अरुण जेटली ने 24 अगस्त को अंतिम सांस ली थी। जेटली को भाजपा का संकटमोचक भी कहा जाता है। उन्होंने अपने छात्र जीवन से ही राजनीति की दुनिया में कदम रख लिया था और आगे चलकर वह भारत के वित्तमंत्री और रक्षामंत्री बने। पेशे से वकील जेटली लंबे समय तक पार्टी के प्रवक्ता रहे।

सुषमा स्वराज

sushma swaraj,sushma swaraj pass away,sushma swaraj death,sushma swaraj political journey,sushma swaraj and geeta,sushma swaraj last wish,sushma swaraj ki antim vidai, sushma swaraj daughter

केंद्र में विदेश मंत्रालय जैसा महत्वपूर्ण पद संभालने वाली सुषमा स्वराज का निधन 6 अगस्त को हो गया। वह भारतीय राजनीति की एक ऐसी महिला थीं जिसने अपनी बेबाकी से हर मुश्किलों का सामना किया। सुषमा की गिनती देश की सर्वाधिक लोकप्रिय महिला नेताओं में होती थी। सुषमा देश की पहली महिला विदेशमंत्री बनी थीं। वह दिल्ली की मुख्य मंत्री भी रह चुकी हैं। उन्होंने सितंबर 2016 में सयुंक्त राष्ट्र में हिन्दी में भाषण दिया था, जिसकी पूरे देश में चर्चा हुई थी।

शीला दीक्षित

shila dixit,sheila dixit nidhan,sheila dixit death

कांग्रेस की दिग्गज नेता शीला दीक्षित ने भी इसी साल 20 जुलाई को दुनिया को अलविदा कह दिया। साल 1984 में पहली बार शीला उत्तर प्रदेश के कन्नौज से सांसद चुनी गई थीं। वह 1998 से 2013 तक लगातार 15 साल दिल्ली की मुख्य मंत्री रह चुकी हैं। शीला ने दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष का भी पदभार संभाला है। उनकी गिनती कांग्रेस के अग्रिम पंक्ति के नेताओं में होती थी।

मनोहर पर्रिकर 

भाजपा के दिग्गज नेता मनोहर पर्रिकर का लंबी बीमारी के बाद 17 मार्च को निधन हो गया था। उनकी गिनती देश के सबसे ईमानदार नेताओं में होती थी। आईआईटी मुंबई से उच्च शिक्षित पर्रिकर तीन बार गोवा के मुख्यमंत्री रहे हैं। मनोहर पर्रिकर ने नरेन्द्र मोदी सरकार में रक्षामंत्री का पद भी संभाला है।

राम जेठमलानी 

ram jethmalani,ram jethmalani death,ram jethmalani ka nidhan,pm modi

भाजपा नेता राम जेठमलानी का निधन 8 सितंबर को हो गया था। जेठमलानी अटल बिहारी वाजपेयी मंत्रिमंडल में कानून मंत्री रह चुके हैं। इसके अलावा वह कुछ समय तक केंद्रीय शहरी विकास मंत्री भी रहे हैं। जेठमलानी की गिनती देश के नामी और कामयाब वकीलों में होती थी। उन्होंने महज 17 साल की उम्र में एलएलबी की डिग्री हासिल कर ली थी।

जॉर्ज फर्नांडिस

मशहूर राजनेता जॉर्ज फर्नांडिस भी इसी साल 89 साल की उम्र में दुनिया से रुखसत हो गए थे। लंबे समय से बीमार चल रहे फर्नांडिस ने 29 जनवरी को अपनी आखिरी सांस ली थीं। उन्होंने आपातकाल के दौरान साल 1999 में कारगिल युद्ध के समय केंद्रीय रक्षा मंत्री का पद भी संभाला था। राजनेता होने के साथ-साथ फर्नांडिस एक पत्रकार भी थें। इसके अलावा वह भारत के केंद्रीय मंत्रिमंडल में रक्षा मंत्री, संचारमंत्री, उद्योगमंत्री, रेलमंत्री आदि के रूप में कार्य कर चुके थे।

ये भी पढ़े…

2019 में कत्ल के ये 6 बड़े मामले रहे सबसे ज्यादा चर्चित, इन्हें सुलझाना पुलिस के लिए बन गई थी चुनौती

अलविदा 2019 : इस साल रातोंरात सुपरस्टार बन गए ये लोग, एक वीडियो ने बदल दी किस्मत

अलविदा 2019 : साल 2019 में इन सितारों ने दुनिया को कहा अलविदा

 

Related posts