अब अस्थि विसर्जन भी करवाएगा डाक विभाग, कर्मकांड का लाइव वेबकास्ट, परिवार को भेजेगा गंगाजल

चैतन्य भारत न्यूज

डाक विभाग ने कोरोना या नॉन कोरोना डेथ के बाद अस्थियाें के संपूर्ण कर्मकांड से विसर्जन की जिम्मेदारी भी उठाई है। संस्था ओम दिव्य दर्शन के सहयोग से डाक विभाग की ओर से की गई पहल के तहत अब आप अपने परिजनों की अस्थियां स्पीड पोस्ट से वाराणसी, प्रयागराज, हरिद्वार और गया भेज सकते हैं। वहां संस्था के प्रतिनिधियों की ओर से विधिवत अस्थिविसर्जन सहित श्राद्ध आदि कर्मकांड कराए जाएंगे।

देखा गया है कि कोरोना संक्रमित व्यक्ति के अंतिम संस्कार से लेकर अस्थियों के विसर्जन तक में परिजनों को संक्रमण का डर सता रहा है। ऐसे में डाक निदेशक व वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव ने ओम दिव्य दर्शन नामक सामाजिक-धार्मिक संस्था से मिलकर ऐसे लोगों के लिए यह पहल की है। देश के किसी भी कोने से अब अस्थियां डाकघरों से स्पीड पोस्ट के माध्यम से इन जगहों पर भेजी जा सकेंगी। इनका विधिवत कर्मकांड ओम दिव्य दर्शन द्वारा संपन्न किया जाएगा।

इस तरह करें रजिस्ट्रेशन
इस योजना के तहत डाक विभाग मृतकों के परिजनों को उनके अस्थि विसर्जन को ऑनलाइन दिखाएगा। इस सुविधा को प्राप्त करने के लिए इच्छित व्यक्ति को ओम दिव्य दर्शन संस्था के पोर्टल htpp://omdivyadarshan.org पर अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। इसके बाद उक्त व्यक्ति की ओर से डाकघर के माध्यम से अस्थियों का पैकेट स्पीड पोस्ट से भेजा जाएगा। अच्छी तरह से पैक अस्थि पैकेट पर मोटे अक्षरों में ‘ओम दिव्य दर्शन’ लिखा होना चाहिए ताकि इसे अलग से पहचाना जा सके। पैकेट पर भेजने वाले का पूरा नाम, पता, मोबाइल नंबर भी लिखना होगा। स्पीड पोस्ट का शुल्क भेजने वाले से ही लिया जाएगा।

घर पर गंगाजल भी पहुंचाया जाएगा

इसके लिए मृतकों के परिजनों को डाक विभाग की स्पीड पोस्ट पर जाकर रजिस्ट्रेशन कराना होगा। इसके बाद डाक विभाग अस्थियों का पंडितों के सानिध्य में विसर्जन करवाएगा। कर्मकांड के बाद परिजनों को घर बैठे गंगाजल भी भेजा जाएगा।

Related posts