मंदिर के पुजारी ने कोरोना वायरस को भगाने के लिए दी मानव बलि, शख्स का सिर काटकर मंदिर में चढ़ाया, हुआ गिरफ्तार

चैतन्य भारत न्यूज

कोरोना वायरस को भगाने के लिए लोग अनोखे तरीके अपना रहे हैं। लेकिन ओडिशा के कटक जिले में तो एक पुजारी ने जो तरीका अपनाया है उसने हर किसी को हैरत में डाल दिया है। इस पुजारी ने कोरोना वायरस को भगाने के लिए मंदिर में मानव बलि दे दी।

यह रोंगटे खड़े कर देने वाली वारदात कटक जिले के बंधहुडा गांव में बुधवार रात हुई। यहां मां ब्राह्मणी देवी मंदिर परिसर के अंदर पुजारी संसार ओझा ने एक व्यक्ति की बलि चढ़ा दी। मंदिर परिसर के अंदर एक व्यक्ति का शव मिला। मरने वाले का नाम 52 वर्षीय सरोज कुमार प्रधान था। पुजारी को यह विश्वास था कि इससे घातक कोरोना वायरस नष्ट हो जाएगा। पुजारी ने बताया कि भगवान ने उसे सपने में आदेश दिया कि मानव बलि से कोरोना का कहर खत्म हो जाएगा।

पुजारी का कहना है कि, भगवान ने उसे सपने में ऐसा काम करने का आदेश दिया था। स्थानीय पुलिस ने हत्या के लिए इस्तेमाल किए हथियार को जब्त कर लिया है। पूछताछ के दौरान पुजारी ने कोरोना वायरस को रोकने के लिए आदमी की हत्या करने की बात कबूल की है। इस मामले को लेकर डीआईजी आशीष सिंह ने कहा कि, ‘यह एक भयावह घटना है। हमने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है, मामले की जांच जारी है।’ पुलिस ने आरोपी पुजारी को हिरासत में लेकर मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।

 

 

 

 

Related posts