बंगाली वेशभूषा और असमिया गमछा पहनकर पीएम मोदी ने पुडुचेरी की नर्स से लगावाया कोरोना का टीका

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. देश में आज से कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा चरण आज से शुरू हो गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सोमवार को दिल्ली के एम्स अस्पताल में कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगवाई। उन्हें भारत बायोटेक की कोवैक्सिन का डोज दिया गया। इस दौरान पीएम मोदी ने लोगों से कोरोना का टीका लगाने और भारत को कोविड-19 से मुक्त कराने के लिए साथ आने आने की अपील की है।


पीएम ने टीका लगवाकर सभी चुनावी राज्यों को संदेश देने की कोशिश की है। उन्हें पुडुचेरी की नर्स पी निवेदा ने कोरोना का टीका लगवाया। इस दौरान प्रधानमंत्री के पीछे केरल की नर्स खड़ी थी। उन्होंने गले में असम का गमछा डाला हुआ था तो उनकी वेशभूषा पश्चिम बंगाल की थी। बता दें इन पुडुचेरी, बंगाल और असम में 27 मार्च से 6 अप्रैल तक विधानसभा चुनाव होने वाले हैं।


बता दें विपक्ष द्वारा बायोटेक की कोवैक्सिन को मंजूरी दिए जाने पर काफी सवाल खड़े किए गए थे, साथ ही वैक्सीन की गंभीरता पर भी निशाना साधा गया था। भारत बायोटेक और सीरम इंस्टीट्यूट के बीच भी वैक्सीन को लेकर विवाद हुआ था। लेकिन अब पीएम मोदी ने भारत बायोटेक की ही को-वैक्सीन की डोज लेकर सभी प्रश्न चिन्हों पर लगाम लगा दी है।

दूसरे चरण में बुजुर्गों को टीके लगेंगे

देश में कोरोना वैक्सीनेशन के दूसरे चरण में 60 साल से ज्यादा और 45 साल से 60 साल तक के वे लोग जिन्हें गंभीर बीमारियां हैं, उनको शामिल किया गया है। जिनकी उम्र 1 जनवरी 2022 को 60 साल होगी, वे भी इस बार टीका लगवा सकते हैं। वैक्सीनेशन दोपहर 3 बजे तक चलेगा। इसके लिए को-विन 2।0 पोर्टल के साथ ही आरोग्य सेतु ऐप पर सुबह 9 बजे से रजिस्ट्रेशन शुरू हो गए हैं।

गंभीर बीमारी का सर्टिफिकेट दिखाना होगा

जिन लोगों की उम्र 60 साल या ज्यादा है, उन्हें रजिस्ट्रेशन और वैक्सीनेशन के वक्त ID कार्ड साथ रखना होगा। 45 से 60 साल के जिन लोगों को गंभीर बीमारी है, उन्हें मेडिकल सर्टिफिकेट दिखाना होगा। सरकार ने इसके लिए डिक्लरेशन फॉर्मेट के साथ इस क्राइटेरिया में आने वाली 20 बीमारियों की लिस्ट भी जारी की है। इस फॉर्म को डॉक्टर से सर्टिफाई करवाना होगा।

Related posts