पीएम मोदी ने किया ‘अटल भूजल योजना’ का शुभारंभ, कहा- 2024 तक हर घर में होगा जल

modi

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. पूर्व प्रधानमंत्री और भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता अटल बिहारी वाजपेयी की आज 95वीं जयंती है। बुधवार सुबह राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पीएम मोदी समेत कई दिग्गजों ने सदैव अटल स्मारक पहुंचकर पूर्व पीएम को श्रद्धांजलि दी। इस खास दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को अटल भूजल योजना की शुरुआत भी की।



अटल भूजल योजना की शुरुआत करने के साथ ही पीएम मोदी ने अटल टनल का भी उद्घाटन किया। दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित हुए इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि, ‘आज भारत के दो रत्नों अटल बिहारी वाजपेयी, मदन मोहन मालवीय का जन्मदिन है। मनाली के पास एक गांव में आज हवन हो रहा है। जब मैं हिमाचल में रहता था तो अटल जी मनाली आते थे, तब अटल जी ने इस टनल पर काम करना शुरू किया था। तब मैंने नहीं सोचा था कि अटलजी के सपने को उनके नाम से ही जोड़ा जाएगा।’

देश के लिए एक बड़ी परियोजना

पीएम ने कहा, ‘आज देश के लिए बहुत महत्वपूर्ण एक बड़ी परियोजना का नाम अटल जी को समर्पित किया गया है। हिमाचल प्रदेश को लद्दाख और जम्मू-कश्मीर से जोड़ने वाली, मनाली को लेह से जोड़ने वाली, रोहतांग टनल, अब अटल टनल के नाम से जानी जाएगी।’

8 हजार से ज्यादा गांव में शुरू अटल भूजल योजना

जानकारी के मुताबिक, पीएम मोदी ने 6 हजार करोड़ रुपए की अटल भूजल योजना 8 हजार 350 गांवों में शुरू की है। इस योजना के लिए भूजल को बेहतर बनाने की कोशिश की जाएगी। पीएम मोदी ने कहा कि, ‘पानी का संकट विकास को भी प्रभावित करता है। यह घर, खेत और उद्योग को भी प्रभावित करता है।’ उन्होंने आगे कहा कि, ‘पानी का विषय अटल जी के लिए बहुत महत्वपूर्ण था, उनके हृदय के बहुत करीब था। अटल जल योजना हो या फिर जल जीवन मिशन से जुड़ी गाइडलाइंस, ये 2024 तक देश के हर घर तक जल पहुंचाने के संकल्प को सिद्ध करने में एक बड़ा कदम हैं।’

नए भारत को जल संकट से निपटने को तैयार करना

पीएम ने यह भी कहा कि, ‘पानी का ये संकट एक परिवार के रूप में, एक नागरिक के रूप में हमारे लिए चिंताजनक तो है ही साथ ही एक देश के रूप में भी ये विकास को प्रभावित करता है। नए भारत को हमें जल संकट की हर स्थिति से निपटने के लिए तैयार करना है। इसके लिए हम पांच स्तर पर एक साथ काम कर रहे हैं।’ उन्होंने कहा कि ‘जल शक्ति मंत्रालय ने इस संकलित दृष्टिकोण से पानी को बाहर निकाला और व्यापक दृष्टिकोण को बल दिया। इसी मानसून में हमने देखा है कि समाज की तरफ से, जलशक्ति मंत्रालय की तरफ से जल संरक्षण के लिए कैसे व्यापक प्रयास हुए हैं।’

क्रिसमस की दी बधाई

साथ ही पीएम मोदी ने इस कार्यक्रम में सभी देशवासियों को क्रिसमस की शुभकामनाएं भी दी। उन्होंने कहा, ‘मैं सबसे पहले देश को दुनिया के लोगों को क्रिसमस की बहुत-बहुत बधाई और शुभकामनाएं देता हूं।’

Related posts