सोनभद्र हत्याकांड : सोनभद्र जाने की जिद पर अड़ीं प्रियंका गांधी, रातभर दिया धरना, कहा- पीड़ितों से मिलकर ही जाऊंगी

priyanka gandhi,sonbhadra

चैतन्य भारत न्यूज

मिर्जापुर. सोनभद्र नरसंहार मामले ने शुक्रवार को उस समय बड़ा रूप ले लिया, जब कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पीड़ित परिवारों से मिलने के लिए जा रही थीं लेकिन उन्हें नारायणपुर में ही रोक दिया गया। यहां से प्रियंका को मिर्जापुर के चुनार गेस्ट हाउस में ले जाया गया। प्रियंका शुक्रवार दोपहर से वहीं पर धरने पर बैठी हैं।

जानकारी के मुताबिक, प्रियंका अपने कार्यकर्ताओं के साथ रातभर से गेस्ट हाउस में धरने पर बैठी हुईं हैं। बताया जा रहा है कि गेस्ट हाउस में रात 10 बजे तक बिजली भी नहीं थी। मिर्जापुर प्रशासन ने प्रियंका से कहा भी कि बिजली न होने की वजह से एसी-पंखा भी नहीं चल पाएगा इसलिए आप वाराणसी चले जाइए। लेकिन प्रियंका ने जाने से मना कर दिया। प्रियंका ने प्रशासन से कहा कि, उन्हें एसी नहीं चाहिए, वह कार्यकर्ताओं के साथ रह लेंगी। फिर देर रात कांग्रेस के लोगों ने अपने खर्चे से जनरेटर मंगाया तब जाकर बिजली का इंतजाम हो पाया।

बता दें बुधवार को उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में 90 बीघा जमीन के विवाद में गुर्जर और गोंड बिरादरी के बीच हुए खूनी संघर्ष में एक ही पक्ष के 10 लोगों की मौत हो गई। इस घटना में 25 लोग घायल हुए थे। बताया जा रहा है कि इस जमीन पर 1947 से आदिवासियों का कब्जा था। इस पर गोंड बिरादरी के लोग खेती करते थे। इसके बाद ग्राम प्रधान जमीन पर कब्जे के लिए करीब 200 हमलावरों के साथ पहुंचा था। लेकिन जब आदिवासियों ने विरोध किया तो उन्होंने फायरिंग कर लाशें बिछा दी।

मामला बढ़ता देख सोनभद्र के डीएम ने उभ्भा गांव और आस-पास अगले दो महीने तक के लिए धारा 144 लागू कर दी है। सूत्रों के मुताबिक, उत्तर प्रदेश सरकार के कई बड़े अफसर रातभर चुनार किला में बने गेस्ट हाउस के चक्कर काटते रहे। उन्होंने प्रियंका से वापस जाने का आग्रह भी किया लेकिन प्रियंका ने इन सभी आलाधिकारियों से साफ-साफ कह दिया कि वह बिना सोनभद्र नरसंहार पीड़ितों से मिले वापस नहीं लौटेंगी।

बता दें प्रियंका को धारा 144 का उल्लंघन करने पर हिरासत में लेकर चुनार किला में बने गेस्ट हाउस लाया गया। शुक्रवार देर रात प्रियंका ने ट्वीट कर कहा कि,’मैंने यह स्पष्ट करते हुए कि मैं किसी धारा का उल्लंघन करने नहीं बल्कि पीड़ितों से मिलने आई थी, सरकार के दूतों से कहा है कि बगैर मिले मैं यहां से वापस नहीं जाऊंगी।’ इसके अलावा प्रियंका ने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘मेरे वकीलों के मुताबिक, मेरी गिरफ्तारी हर तरह से गैर-कानूनी है। मुझे इन्होंने सरकार का संदेश दिया है कि मैं पीड़ित परिजनों से नहीं मिल सकती।’

ये भी पढ़े…

जमीन के विवाद में फायरिंग, 10 लोगों की मौत, 20 घायल

VIDEO : जनता का प्यार देख खुद को रोक न सकीं प्रियंका गांधी, ऊंचे बैरिकेट्स को पार कर उनसे मिलने पहुंचीं

VIDEO : प्रचार के दौरान सांपों के साथ खेलने लगी प्रियंका गांधी, सुरक्षाकर्मियों ने रोका तो कह दी ऐसी बात

Related posts