CAA के विरोध प्रदर्शन से रेलवे को 80 करोड़ का नुकसान, वसूली के लिए 85 लोगों पर एफआईआर दर्ज

protest on caa, railway damaged

चैतन्य भारत न्यूज

कोलकाता. नागरिकता संशोधन कानून के विरोध के चलते बीते दिनों भारतीय  रेलवे के विभिन्न स्टेशनों में तोड़फोड़ और आगजनी से भारी नुकसान हुआ है। रेलवे बोर्ड ने कहा है कि सीएए विरोधी प्रदर्शनों के दौरान 80 करोड़ रुपए की रेलवे संपत्ति क्षतिग्रस्त हुई है, इसमें शामिल लोगों से इसकी वसूली की जाएगी।



जानकारी के मुताबिक, पश्चिम बंगाल में रेलवे को सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है। रेलवे सुरक्षा बल के डीजी अरुण कुमार ने कहा कि पश्चिम बंगाल में स्थिति सबसे बदतर है क्योंकि यहां बड़े पैमाने पर पूर्वी रेलवे है और यहां 72 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है। उन्होंने बताया कि बंगाल में सबसे ज्यादा हावड़ा, सीलदह और माल्दा प्रभावित रहे।

अरुण कुमार के मुताबिक, रेलवे ने हिंसक घटनाओं को लेकर 85 एफआईआर दर्ज की। अरुण कुमार ने कहा कि ऐसे लोग हैं जिनकी पहचान हिंसा के वीडियो के जरिए हुई है और हमने उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। रेलवे ने बताया कि रेलवे संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के चलते पूर्वी रेलवे को 72.19 करोड़, दक्षिण पूर्व रेलवे को 12.75 करोड़ और उत्तर रेलवे को 2.98 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है।

ये भी पढ़े…

रेलवे बोर्ड में हुआ बड़ा बदलाव, सेवाओं का होगा एकीकरण

नासिक रेलवे स्टेशन पर यात्रियों के लिए शुरू किया ऑक्सीजन पार्लर  लगाए गए 1500 पौधे

चूहे मारने के लिए रेलवे ने रोजाना खर्च किए 14 हजार रुपए, अब तक मरे 5457 चूहे, खर्च हुए 1.52 करोड़

Related posts