बालकनी में बाल सुखा रही थी लड़की, पैर फिसला और चौथी मंजिल पर जाकर फंसी, इस तरह बचाई जान

चैतन्य भारत न्यूज

पुणे. ‘जाको राखे साइयां, मार सके न कोय’… ये दोहा महाराष्ट्र के पुणे में एक बार फिर से सही साबित हुआ। यहां एक लड़की बालकनी में बाल सुखाने के दौरान गिर गई। गनीमत ये रही कि लड़की के बाल फ्लैट की खिड़की के ग्रिल में फंस गए जिस वजह से वो लटक गई। इसके बाद घरवालों ने फायर ब्रिगेड को सूचना दी और कड़ी मशक्कत के बाद करीब दो घंटे बाद लड़की को बचाया गया।

दरअसल पुणे के शुक्रावर पेठ इलाके के बहुमंजिला गणेश अपार्टमेंट में एक लड़की बालकनी में बाल सुखा रही थी, इसी दौरान वो गिर गई। लड़की पांचवी मंजिल से गिरी थी, लेकिन गनीमत ये रही कि इस दौरान उसके बाल फ्लैट की खिड़की में फंस गए, जिस वजह से वो लटक गयी। फिर लड़की खिड़की के कुछ सेंटीमीटर की जगह पर खड़ी हो गई। नीचे लोग इकठ्ठा हो गए और डर के मारे नीचे से लड़की को देखते रह गए।

बिल्डिंग में मौजूद लोगों ने तो साड़ी को छत से गिराया और लड़की को ऊपर खींचने की कोशिश की, लेकिन लड़की डर के मारे साड़ी नहीं पकड़ पाई। इसके बाद फायर बिग्रेड को लड़की को बचाने के लिए बुलाया गया। दमकलकर्मियों ने पहले सीढ़ी के सहारे उस स्थान पर पहुंचने की कोशिश की, जहां बच्ची फंसी थी। लेकिन सीढ़ी चौथी मंजिल की खिड़की तक नहीं पहुंच सकी। उसके बाद दो दमकलकर्मी सचिन मांडवकर और कैलास पायगुडे पांच मंजिला इमारत की छत पर गए और अपनी कमर में रस्सी बांधकर चौथी मंजिल पर उतर गए।

फिर दोनों ने लड़की की कमर में रस्सी बांध दी और उसे सुरक्षित सीढ़ियों से नीचे उतार दिया। इस तरह पुणे फायर ब्रिगेड ने चौथी मंजिल में फंसी बच्ची को बचा लिया। दमकलकर्मियों के इस हौसले को हर कोई सलाम कर रहा है। दोनों दमकलकर्मियों ने अपनी जान पर खेलकर बच्ची को बचा लिया है।

Related posts