मिग-21 क्रैश में पायलट अभिनव हुए शहीद, 17 महीने पहले सिर्फ एक रुपए शगुन लेकर की थी शादी

चैतन्य भारत न्यूज

पंजाब के मोगा में गुरुवार देर रात भारतीय वायुसेना का मिग-21 लड़ाकू विमान क्रैश हो गया। इस हादसे में मेरठ के गंगानगर के निवासी फायटर पायलट अभिनव चौधरी की मौत हो गई है। अभिनव की मौत की सूचना से शहर में शोक की लहर दौड़ पड़ी।

विमान गिरते ही उसमे आग लग गई

पंजाब के मोगा के पास गुरुवार रात करीब साढ़े नौ बजे भारतीय वायुसेना का एक मिग-21 लड़ाकू विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया। एसपी (हेडक्वार्टर) गुरदीप सिंह के अनुसार, हादसे में पायलट अभिनव चौधरी की मौत हो गई। हादसा मोगा से करीब 25 किलोमीटर बाघापुराना के गांव लंगियाना खुर्द के पास हुआ। विमान के गिरते ही उसमें आग लग गई थी। अभिनव पठानकोट एयरबेस में तैनात थे।

केवल एक रुपया स्वीकार

अभिनव का मूल रूप से बागपत के पुसार गांव के रहने वाले थे। परिवार लंबे समय से मेरठ में ही रह रहा था। 25 दिसंबर 2019 को शादी में दहेज में मिली नकदी लौटा कर उन्होंने सिर्फ शगुन का एक रुपया लिया था। जिसके बाद वे काफी चर्चाओं में आये थे। अभिनव मानते थे कि शादी में दहेज की कोई भूमिका नहीं होनी चाहिए। दो परिवारों को जाेड़ने के लिए दहेज का लेनदेन जरूरी नहीं है। वे मानते थे कि दहेज प्रथा पर पूरी तरह रोक लगनी चाहिए।

छोटी उम्र में ही दिख गयी थी उड़ने की चाहत

पढ़ाई लिखाई में अभिनव शुरू से ही बेहद होनहार रहे हैं। पढ़ाई के अलावा भी उनकी रूचि तरह तरह के खेलों व अन्य गतिविधियों में रही है। मेरठ में ही रहने के दौरान पांचवी तक की पढ़ाई ट्रांसलेट एकेडमी में हुई थी। इसके बाद कक्षा 6 से 12वीं तक की पढ़ाई राष्ट्रीय इंडियन मिलिट्री कालेज देहरादून में हुई। आरआईएमसी में देश भर से चुनिंदा बच्चों को ही प्रवेश मिलता है, लेकिन पहले ही प्रयास में अभिनव को इस कालेज में चयन हो जाने के बाद परिवार को भी यह समझ में आने लगा था कि बेटा ऊंची उड़ान की ओर आगे बढ़ रहा है।

Related posts