‘न्याय योजना’ पर बोले राहुल गांधी- ‘चोर उद्योगपतियों’ की जेब से आएगा पैसा

चैतन्य भारत न्यूज।

गोलाघाट (असम)। कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को असम के गोलाघाट जिले में चुनावी रैली को संबोधित किया, जहां उन्होंने पीएम मोदी पर जमकर निशाना साधा। इस दौरान न्याय योजना के दावे को लेकर भाजपा नेताओं के सवाल पर कहा कि इस योजना का पैसा ‘चोर उद्योगपतियों’ की जेब से आएगा।

एक तरफ चौकीदार का झूठ, दूसरी तरफ कांग्रेस का सच

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि हम नार्थ ईस्ट पर हमला नहीं होने देंगे। साथ ही कहा कि नागरिकता बिल को पास नहीं होने देंगे। रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि एक तरफ चौकीदार का झूठ कि हर बैंक खाते में 15 लाख रुपए आएंगे, दूसरी तरफ कांग्रेस पार्टी का सच है।

सरकार आई तो हर साल गरीब 20 फीसदी परिवारों को देंगे 72 हजार रुपए 

राहुल गांधी ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने पांच साल तक केवल आप लोगों को बेरोजगार करने का काम किया। नोटबंदी की और आप सबको लाइन में खड़ा किया। अब मैं आप सबको एक नई लाइन में खड़ा करना चाहता हूं। इस लाइन में लगने के लिए आपको घर से बाहर नहीं निकलना पड़ेगा। यदि केंद्र में हमारी सरकार बनी तो हम देश के सबसे गरीब 20 फीसदी परिवारों के बैंक खातों में हर साल 72 हजार रुपए डालेंगे।

राहुल गांधी ने असम में ये भी कहा कि अगर कांग्रेस सत्ता में आती है तो वो नागरिकता संशोधन विधेयक को मंजूर नहीं करेगी। इसके अलावा पूर्वी राज्यों का विशेष राज्य का दर्जा फिर बहाल करेगी।

युवाओं को रोजगार शुरु करने के लिए कोई परमिशन लेने की जरूरत नहीं

राहुल गांधी ने कहा कि देश के लाखों युवा कारोबार शुरु करना चाहते हैं। इसके लिए मौजूदा सरकार में परमिशन लेना पड़ेगा। लेकिन हमारी सरकार आने के बाद युवाओं को रोजगार शुरु करने के लिए कोई परमिशन लेने की जरूरत नहीं है। मैं पूछना चाहता हूं कि अनिल अंबानी, नीरव मोदी ने कितने को रोजगार दिया है। मैं बताना चाहता हूं कि उन्होंने सिर्फ अपना जेब को भरा। मैं आपसे वादा करता हूं कि 22 लाख खाली पड़े जगहों को हमारी सरकार आने के बाद भरा जाएगा।

ये भी पढ़ें…

कांग्रेस ने जारी किया घोषणा पत्र, राहुल गांधी ने दिया नारा- ‘गरीबी पर वार 72 हजार’

कांग्रेस के घोषणापत्र पर राहुल की छोटी तस्वीर लगने से नाराज सोनिया गांधी, राजीव गौड़ा को लगाई फटकार

Related posts