CAA प्रदर्शन-हिंसा में मारे गए लोगों के परिजन से मिलने पहुंचे राहुल-प्रियंका, पुलिस ने वापस लौटाया

rahul priyanka meerut

चैतन्य भारत न्यूज

मेरठ. नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ हो रहे विरोध-प्रदर्शन और हिंसा में मारे गए लोगों के परिजनों से मंगलवार को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी मिलने पहुंचे। लेकिन दोनों के शहर में प्रवेश करते ही पुलिस ने उनके काफिले को रोक लिया। पुलिस ने उन्हें धारा 144 का हवाला दिया और आगे नहीं जाने दिया। इसके बाद राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वापस दिल्ली लौट गए हैं।


फोन पर हुई बात और लौट गए राहुल-प्रियंका

जानकारी के मुताबिक, मंगलवार दोपहर जब राहुल गांधी और प्रियंका मेरठ बॉर्डर पर पहुंचे तो परतापुर थाने के पास ही पुलिस ने उन्हें रोक दिया। इस दौरान पुलिस ने उन्हें धारा 144 का हवाला दिया और किसी राजनीतिक गतिविधि ना करने का हवाला दिया। फिर राहुल ने पुलिस से पूछा कि क्या आपके पास कोई ऑर्डर है? हालांकि, फिर भी उन्हें मेरठ में प्रवेश नहीं करने दिया। जब उन्हें अंदर नहीं जाने दिया तो दोनों नेताओं ने गाड़ी में बैठे हुए ही मृतकों के परिजनों से बात की। दरअसल कांग्रेस नेता इमरान मसूद मेरठ में मृतकों के घर पर ही मौजूद थे। उन्होंने ही राहुल और प्रियंका की बात करवाई।

मेरठ में चार लोगों की हुई मौत

बता दें नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर मेरठ में काफी विरोध-प्रदर्शन हुआ था। इस दौरान काफी ज्यादा हिंसा भी हुई थी जिसमें गाड़ियों की तोड़फोड़ और पत्थरबाजी की गई थी। इसी हिंसा में मेरठ में चार लोगों की मौत हो गई थी। इसके बाद प्रियंका और राहुल मृतकों के परिजनों से मुलाकात करने के लिए मेरठ गए थे।

कांग्रेस ने साधा निशाना

जब राहुल और प्रियंका को शहर में प्रवेश नहीं करने दिया तो यूपी कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने इसका विरोध किया। उन्होंने कहा कि, ‘दोनों नेता परिजनों से मिलने के लिए अकेले जा रहे थे, इस दौरान प्रशासन चाहे तो उन्हें अपनी देखरेख में ले जाता। लेकिन ये प्रशासन कांग्रेस पार्टी से डरती है और इस तरह की बहानेबाजी कर रही है।’

ये भी पढ़े…

राहुल गांधी ने रेप को लेकर दिया ऐसा बयान, महिला सांसदों ने किया हंगामा, अनिश्चित काल के लिए कार्यवाही स्थगित

प्रियंका गांधी के घर में घुसने वाली गाड़ी का पता लगा, कांग्रेस नेता के बेटे की थी कार

नागरिकता कानून पर बवाल, विरोध में सत्याग्रह पर बैठी कांग्रेस, सोनिया-राहुल-मनमोहन ने पढ़ा संविधान का प्रस्तावना

Related posts