लखनऊ के 45 अस्पतालों पर पड़ा छापा, फ्रिज में दवाओं की जगह रखी बीयर की बोतलें, ज्यादातर के पास लाइसेंस ही नहीं

चैतन्य भारत न्यूज

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में चल रहे निजी अस्पतालों में बड़े पैमाने पर मनमानी और मानकों की अनदेखी कर लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ हो रहा है। रविवार को लखनऊ में 45 अस्पतालों पर जिला प्रशासन की छह टीमों ने को छापा मारा। इनमें से ज्यादातर अस्पतालों के पास लाइसेंस ही नहीं मिला। किसी के पास तो वह एक्सपायरी था। ज्यादातर जगह तो डॉक्टर ही नहीं मिले।

फ्रिज में दवाई की जगह मिली बीयर

एक अस्पताल में तो बीएससी पास संचालक ही मरीज का इलाज कर रहे थे। नर्सिंग व ओटी टेक्नीशियन का काम छात्रों के जिम्मे मिला। यही नहीं, हरदोई रोड स्थित तुलसी ऐंड ट्रॉमा सेंटर के ओटी में तो फ्रिज में दवा की जगह बीयर की बोतलें पाई गईं। छापे के बाद जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश के निर्देश पर सीएमओ डॉ. मनोज अग्रवाल ने 29 अस्पतालों के खिलाफ नोटिस जारी किया है। साथ ही चेतावनी दी गई है कि यदि अस्पताल प्रबंधन ने संतोषजनक जवाब नहीं दिया तो सीलिंग की कार्रवाई की जाएगी।

इस हॉस्पिटल की ओटी में मिली बीयर की बोतलें

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने सोमवार को तुलसी एंड ट्रामा सेंटर पर छापेमारी की. इस दौरान ट्रामा सेंटर में चार आईसीयू बेड थे, लेकिन डॉक्टर नहीं थे. यहां ओटी के फ्रिज में बीयर की बोतलें रखी मिलीं. लाइसेंस की वैद्यता भी खत्म हो गई थी. इसी तरह मेडिप्लस एंड ट्रॉमा सेंटर के लाइसेंस की वैद्यता भी खत्म मिली.

Related posts