इन लोगों को रेलवे किराए में मिलती है 25 से 75 फीसदी तक की छूट, आप भी उठा सकते हैं फायदा

indian railway

चैतन्य भारत न्यूज

1 सितंबर से भारतीय रेलवे ने सर्विस चार्ज में बढ़ोतरी कर दी है। इसके तहत अब से आईआरसीटीसी (IRCTC) के जरिए ऑनलाइन टिकट बुक करने वाले यात्रियों को ज्यादा किराया देना पड़ रहा है। यदि आप भी ट्रेन में सफर करते हैं और किराए में छूट पाना चाहते हैं, तो यह खबर आपके लिए है।

बता दें भारतीय रेलवे गरीबों, मरीजों, खिलाड़ियों, बेरोजगारों, सरकारी नौकरी की तैयारी करने वालो, पत्रकारों, छात्रों, किसानों, डॉक्टरों, दिव्यांगों और बुजुर्गों समेत अन्य को 25 फीसदी से लेकर 75 फीसदी तक किराए में छूट देता है। साथ ही रेलवे मरीजों और दिव्यांगों के साथ यात्रा करने वाले लोगों को भी किराए में छूट देता है। यह छूट जनरल टिकट से लेकर स्लीपर, एसी फर्स्ट क्लास, एसी चेयर कार और एसी सेकंड क्लास तक के टिकट पर भी मिलती है।

इस छूट का फायदा उठाने के लिए आपको एक फॉर्म भरना होगा। मरीजों को रेल के किराए में छूट के लिए डॉक्टर से सर्टिफिकेट बनवाना होगा जिसमें डॉक्टर के दस्तखत होना जरुरी है। इस सार्टिफिकेट का फॉर्मेट नीचे दी गई तस्वीर में आप देख सकते हैं।

इन लोगों को किराए में मिलती है 75% तक की छूट

  • हृदय सर्जरी के लिए यात्रा करने वाले हृदय रोगी
  • मानसिक रोगी
  • दिव्यांग और पैराप्लेजिया पीड़ित
  • किडनी ट्रांसप्लांट ऑपरेशन/डायलिसिस के लिए यात्रा करने वाले किडनी रोगी
  • कैंसर रोगी
  • गंभीर हेमोफिलिया रोगी
  • थैलेसेमीया रोगी
  • उत्पादकता और अभनव कार्यों के लिए प्रधानमंत्री श्रम पुरस्कार प्राप्त औद्योगिक वर्कर
  • युद्ध विधवा
  • टी.बी./लुपस वल्गेरिस रोगी
  • गैर-संक्रमित कोढ़ रोगी
  • पढ़ाई के लिए स्कूल या कॉलेज तक जाने और वापस घर आने के लिए अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के छात्र-छात्राओं को
  • श्रीलंका में शहीद I.P.K.F. सैनिक की विधवा
  • आतंकवादियों और उग्रवादियों के विरुद्ध कार्रवाई में शहीद सैनिकों की विधवा
  • आतंकवादियों और उग्रवादियों के विरुद्ध कार्रवाई में जान गंवाने वाले पुलिसकर्मी और शहीद पैरामिलट्री कर्मी की विधवा
  • 1999 में करगिल युद्ध में ऑपरेशन विजय के शहीद की विधवा

टिकट में 50 फीसदी तक की छूट पाने वाले लोग

  • बेहतर फार्मिग/डेयरी चलाना सीखने के लिए राष्ट्रीय स्तर के संस्थानों का दौरा करने वाले किसानों
  • राष्ट्रपति द्वारा प्रदत्त राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार से सम्मानित व्यक्ति
  • ओस्टॉमी रोगी
  • राष्ट्रीय बहादुरी पुरस्कार से सम्मानित बच्चे, एक अभिभावक के साथ
  • UPSC और SSC द्वारा आयोजित मुख्य लिखित परीक्षा में भाग लेने वाले विद्यार्थी
  • 58 साल या इससे ज्यादा की उम्र की महिला
  • रिसर्च कार्यों के संबंध में यात्रा करने वाले रिसर्च स्कॉलर
  • सार्वजनिक क्षेत्र के संगठनों (केंद्रीय, राज्य सरकार, वैधानिक निकायों, नगर निगम, सरकारी उपक्रम विश्वविद्यालय या निजी क्षेत्र निकाय) में नौकरी के लिए साक्षात्कार पर जाने वाले
  • 60 वर्ष की आयु पूरी कर चुके राष्ट्रपति पुलिस पदक प्राप्त व्यक्ति
  • गूंगे और बहरे व्यक्ति (एक ही व्यक्ति में दोनों कमियां)
  • नेशनल इंटीग्रेशन कैंपों में भाग लेने वाले युवा
  • पढ़ाई के लिए स्कूल या कॉलेज तक जाने और वापस घर आने के लिए जनरल और ओबीसी कैटिगरी के छात्र-छात्राओं को

ये भी पढ़े…

रेलवे मुफ्त में करेगा यात्रियों का मोबाइल रिचार्ज, बस पूरी करना होगी यह शर्त

अब रेलवे ने शुरू किया पिंडदान के लिए खास पैकेज

रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी, अक्टूबर से आसानी से मिलेगी आरक्षित सीट, रेलवे अपनाएगा ये तकनीक

Related posts