यात्रीगण कृपया ध्यान दें… रेलवे ने बढ़ाया किराया, मंत्रालय ने बताई यह वजह

western railway, western railway news, coronavirus

 चैतन्य भारत न्यूज

भारतीय रेलवे ने यात्री ट्रेनों के किराए को बढ़ा दिया है। इस बात की जानकारी रेलवे ने दी है। रेलवे का किराया बढ़ाने के पीछे का तर्क यह है कि, कोरोना वायरस के खतरे को ध्यान में रखते हुए किराए में बढ़ोतरी की गई है जिससे कि ट्रेनों में ज्यादा लोग न चढ़ें।

रेलवे द्वारा बढ़ाए गए किराए का असर 30-40 किमी तक का सफर करने वाले यात्रियों पर पड़ेगा। बता दें लॉकडाउन में छूट के बाद से रेलवे सिर्फ स्पेशल ट्रेनें चला रहा है। शुरुआत में सिर्फ लंबी दूरी की ट्रेनों का संचालन किया जा रहा था, लेकिन अब कम दूरी की यात्री ट्रेनों का भी परिचालन हो रहा है। बता दें कि कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए भारतीय रेलवे ने 22 मार्च, 2020 को ट्रेनों के संचालन को बंद करना पड़ा था।

रेलवे ने बताया कि, बढ़ने वाला किराए का असर केवल 3 प्रतिशत ट्रेनों पर पड़ेगा। कोविड का प्रकोप अब भी मौजूद है और वास्तव में कुछ राज्यों में कोविड की स्थिति बिगड़ रही है। ऐसे में बढ़े हुए किराए को ट्रेनों में भीड़ को रोकने और कोविड को फैलने से रोकने के लिए रेलवे की सक्रियता के रूप में में देखा जाना चाहिए।

कितना होगा किराया

रेलवे के मुताबिक, पहले से ही यात्री की हर यात्रा में बड़ा नुकसान उठाना पड़ता है। टिकटों पर भारी सब्सिडी दी जाती है। कीमतें बढ़ने के बाद समान दूरी के लिए चलने वाली मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों के किराए के आधार पर तय किया गया है। अब यात्रियों को छोटी यात्रा के लिए भी मेल/एक्सप्रेस के बराबर का किराया देना होगा। ऐसे में 30 से 40 किलोमीटर तक की यात्रा करने वाले पैसेंजर्स को अब ज्यादा किराया देना पड़ेगा।

Related posts