मुख्यमंत्री गहलोत ने किया राजस्थान बजट 2020 का ऐलान, यहां देखें बजट की बड़ी बातें

rajasthan budget

चैतन्य भारत न्यूज

जयपुर. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वित्त वर्ष 2020-21 के लिए राज्य का बजट पेश कर दिया है। मुख्यमंत्री गहलोत ने बजट का ऐलान करते हुए कहा कि, ‘राज्य की माली हालत बहुत हद तक केंद्र की नीतिओं पर निर्भर है।’ सीएम गहलोत ने कृषि के लिए 3420 करोड़ रुपए देने की घोषणा की है।


बजट 2020-21 के मुख्य बिंदु

  • मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा सिर्फ 50 फीसदी राशि ही राज्यों को मुहैया कराई जा रही है। राज्य की विषम भौगोलिक परिस्थितियों को देखते हुए केंद्र को 90 फीसदी हिस्से की राशि प्रदान करनी चाहिए।
  • प्रदेश में निरोगी राजस्थान को और मजबूत किया जाएगा। इसके तहत पीएचसी और सीएचसी का विस्तार किया जाएगा। नए मेडिकल कॉलेजों के निर्माण पर तकरीबन 15 हजार करोड़ का खर्च आएगा, इसमें 40 फीसदी भागीदारी राज्य सरकार की होगी।
  • गहलोत ने कहा कि शिक्षा का विकास करना हमारी सरकार की प्राथमिकता है। स्कूलों में संकाय खोले जाने पर 25 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। बालिका शिक्षा को भी बढ़ावा दिया जाएगा, इसके लिए तीन सालों में 66 कस्तूरबा गांधी स्कूलों का ऐलान किया गया है।
  • सीएम गहलोत के मुताबिक, सभी सरकारी स्कूलों में शनिवार को ‘नो बैग डे’ रहेगा। यानी स्कूलों में शनिवार को अलग-अलग प्रकार के खेल खेले जाएंगे और साथ ही छात्रों के कौशल को बढ़ाने वाले क्रियाकलाप होंगे।
  • सीएम गहलोत ने अपने बजट में राज्य में आर्थिक पिछड़ा वर्ग बोर्ड के गठन करने का ऐलान किया। साथ ही कहा कि राज्य में फास्ट ट्रैक कोर्ट स्थापित किए जाएंगे।
  • बजट-2020-21 में बचपन से मूक बधिर बच्चों के इलाज के लिए भी घोषणा की गई है।
  • 50 हजार युवाओं को स्वरोजगार के लिए तैयार किया जाएगा।
  • 41 करोड़ 60 लाख की लागत से अल्पसंख्यक बच्चों के लिए छात्रावास बनवाया जाएगा।
  • पालनहार योजना का दायरा भी बढ़ाया जाएगा। इसके तहत प्रत्येक संभाग मुख्यालय पर छात्रावास और हाफ-वे होम खोला जाएगा। सरकार ने 100 करोड़ रुपए के नेहरू बाल संरक्षण कोष का ऐलान किया है। इसकी मदद से बाल तस्करी और बाल मजदूरी जैसे बुराइयों पर अंकुश लगाया जा सकेगा।
  • जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में कॉटेज वार्ड की जगह नए वार्ड बनाए जाएंगे। इन वार्ड का निर्माण जी प्लस 8 के आधार पर किया जाएगा। इसके अलावा जयपुर में कैंसर के उपचार के लिए भी सेंटर बनकर तैयार है और इसमें ओपीडी शुरू कर दिया गया है।
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि, राज्य की माली हालत बहुत हद तक केंद्र की नीतिओं पर निर्भर है। सीएम गहलोत ने कृषि के लिए 3420 करोड़ रुपए का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि किसानों के लिए किराए पर कृषि यंत्र उपलब्ध होंगे। साथ ही 300 कृषि यंत्र हायरिंग सेंटर्स की स्थापना होगी।
  • राजस्थान में अल्ट्रा मेगा सोलर पार्क विकसित करेंगे। रूफटॉप सोलर सिस्टम को बेहतर तरीके से मजबूत करेंगे। ग्रीन एनर्जी सिटी के तहत चयनित शहरों की कायाकल्प बदले जाएंगे।
  • सीएम गहलोत के मुताबिक, जल जीवन मिशन योजना के जरिए हर घर में पेयजल पहुंचाया जाएगा। 2020-21 में पहले चरण में 16 जिलों के 4327 गांवों में पेयजल पहुंचाया जाएगा।
  • यूनिवर्सिटी में ऑफलाइन और ऑनलाइन वीडियो लेक्चर के लिए राजीव गांधी ई-कंटेंट लाइब्रेरी की सुविधा शुरू की जाएगी।
  • मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि, ‘महात्मा गांधी से प्रेरित होकर मैं यह बजट पेश कर रहा हूं। देश की अर्थव्यवस्था पटरी से उतर चुकी है। राज्य की अर्थव्यवस्था केंद्र की नीति और योजनाओं पर निर्भर है।’

Related posts