कोटा: नहीं थम रहा बच्चों की मौत का सिलसिला, 4 दिन में 11 नवजातों की मौत, 102 के पार पहुंचा आंकड़ा

baby

चैतन्य भारत न्यूज

कोटा. राजस्थान के कोटा स्थित जेके लोन अस्पताल में नवजात बच्चों के मरने का सिलसिला अब भी जारी है। जानकारी के मुताबिक, दिसंबर के अंतिम दो दिन में यहां 9 और बच्चों की मौत हो गई। इसके अलावा नए साल के शुरुआती दो दिन में यहां दो बच्चों की मौत हो गई है। इसी के साथ अब दिसंबर से अब तक मरने वाले बच्चों का आंकड़ा 102 तक पहुंच गया है।



सूत्रों के मुताबिक, 30 दिसंबर को कोटा जिले के खातौली व बारां जिले के दो नवजात बच्चों की मौत हुई। वहीं, 31 दिसंबर को सांगोद, बारां, बूंदी, कोटा शहर के विज्ञान नगर व चश्मे की बावड़ी निवासी 5 नवजात बच्चों की मौत हुई। अस्पताल के डॉ. एएल बैरवा का कहना है कि, ये सभी बच्चे लॉ बर्थ वेट, कुछ प्री-मेच्योर डिलीवरी और माइल्ड इंफेक्शन से पीड़ित थे।

यह है मौत की वजह!

बच्चों के इलाज में लापरवाही के आरोपों के बाद यह अस्पताल चर्चा में आया। रिपोर्ट्स के मुताबिक, जेके लोन अस्पताल में पिछले साल कुल 963 बच्चों ने इलाज के दौरान दम तोड़ा। लेकिन दिसंबर महीने में मौत का आंकड़ा अचानक बढ़ गया। इसके बाद जांच की गई तो पता चला कि इलाज में लापरवाही नहीं बल्कि ऑक्सीजन पाइप लाइन नहीं होना और ठंड के कारण बच्चों की मौत हो रही है।

ये भी पढ़े…

कोटा: 48 घंटे में 10 बच्चों की मौत, सीएम गहलोत बोले- हर रोज 3-4 मौतें होती हैं, कोई नई बात नहीं

ऑक्सीजन पाइपलाइन नहीं होने के कारण इंफेक्‍शन फैलने और ठंड के चलते हुई 91 मासूमों की मौत

Related posts